अमरनाथ यात्रा का 30 जून से

Share News

@ श्रीनगर जम्मू और कश्मीर

जम्मू-कश्मीर में हर साल होने वाली अमरनाथ यात्रा इस बार 30 जून से शुरू होगी। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। दक्षिण कश्मीर स्थित हिमालयी क्षेत्र में 3,880 मीटर की ऊंचाई पर स्थित अमरनाथ गुफा में हिमलिंग  के दर्शन के लिए 43 दिन तक चलने वाली इस यात्रा के संबंध में अमरनाथ श्राइन बोर्ड की बैठक में यह फैसला लिया गया। बैठक की अध्यक्षता उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने की।

उपराज्यपाल कार्यालय की ओर से किए गए ट्वीट में बताया गया कि 43 दिवसीय पवित्र तीर्थयात्रा कोरोना के सभी नियमों का पालन करते हुए 30 जून से शुरू होगी और इसका समापन परंपरा के अनुरूप रक्षा बंधन के दिन होगा। हमने आगामी तीर्थयात्रा से संबंधित विभिन्न पहलुओं पर गहराई से विचार-विमर्श किया है।

अगस्त 2019 में जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को समाप्त किए जाने के कारण उस वर्ष अमरनाथ यात्रा बीच में ही रद्द कर दी गई थी, जबकि कोरोना महामारी के कारण दो साल 2020 और 2021 में सांकेतिक यात्रा की ही अनुमति दी गई थी। इन दोनों साल के दौरान पवित्र गुफा में वैदिक परंपरागत विधि से बाबा बर्फानी की पूजा जारी थी।

श्राइन बोर्ड की ओर से बताया गया कि यात्रा के लिए दो अप्रैल से पंजीकरण शुरू किया जाएगा। एक दिन में केवल 20 हजार लोगों का ही पंजीकरण किया जाएगा। इसके अलावा यात्रा के दौरान भी काउंटर पर जाकर पंजीकरण कराया जा सकेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
track image
Loading...