अशोक गहलोत की उदयपुर यात्रा सर्किट हाउस की जनसुनवाई में उमड़े लोग

Share News

@ जयपुर राजस्थान

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत शुक्रवार को उदयपुर यात्रा पर रहे, इस दौरान उन्होंने सर्किट हाउस में जनसुनवाई की। मुख्यमंत्री को अपने बीच आया हुआ देखकर बड़ी संख्या में परिवादी पहुंचे और अपनी-अपनी परिवेदनाओं को मुख्यमंत्री के सामने प्रस्तुत किया। मुख्यमंत्री ने भी तसल्ली से सभी परिवादियों को सुना और उनकी परिवेदनाओं को लेकर इनके निस्तारण के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया।
 
इस मौके पर पूर्व केन्द्रीय मंत्री मुकुल वासनिक व अजय माकन, पूर्व मंत्री गोविंदसिंह डोटासरा, राजस्व मंत्री एवं जिला प्रभारी रामलाल जाट, पूर्व सांसद रघुवीर मीणा, पूर्व विधायक सज्जन कटारा, संभागीय आयुक्त राजेन्द्र भट्ट, पुलिस महानिरीक्षक हिंगलाज दान, कलक्टर ताराचंद मीणा, एसपी मनोज चौधरी और बड़ी संख्या में विभागीय अधिकारी-कर्मचारी और शहरवासी मौजूद थे।
 
एमबी चिकित्सालय में उपचाररत मरीजों की पूछी कुशलक्षेम
 
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत शुक्रवार को उदयपुर-डूंगरपुर यात्रा पर रहे। इस दौरान उन्होंने उदयपुर के महाराणा भूपाल चिकित्सालय के सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक का निरीक्षण किया और वहां चतुर्थ तल पर स्थित आईसीयू में उपचाररत मरीजाें व घायलों की कुशलक्षेम पूछी। सबसे पहले मुख्यमंत्री हाल ही झाड़ोल रोड पर नांदेश्वर जी के समीप हुए सड़क हादसे में घायलों सेे मिले और उनसे बात करते हुए स्वास्थ्य का हाल जाना।
 
उन्होंने इन मरीजों व उनके परिजनों से दी जा रही चिकित्सकीय सुविधाओं एवं सेवाओं के बारे में जानकारी ली औरघायलों को आश्वस्त किया कि वे जल्द ही ठीक हो जाएंगे। चिकित्सालय प्रबंधन से वस्तुस्थिति की जानकारी लेते हुए आरएनटी प्राचार्य डॉ.लाखन पोसवाल को घायलों के उचित इलाज के साथ इन्हें आवश्यक चिकित्कीय सुविधाएं उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।मुख्यमंत्री गहलोत ने इस सड़क हादसे के संबंध में जिला कलेक्टर को मृतकों व घायलों को राज्य सरकार की ओर से दी जाने वाली सहायता तुरंत प्रदान करने के निर्देश दिए।
 
सड़क दुर्घटना रोकने के लिए राज्य सरकार गंभीर 
 
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि प्रदेश में सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिए राज्य सरकार गंभीर है और इस दिशा में प्रभावी प्रयास किए जा रहे हैं। सड़क हादसे में देश में हर साल ढाई लाख को राजस्थान में करीब 10 हजार लोग दुर्घटनाओं का शिकार होते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा प्रदेश में सड़कें बहुत अच्छी बन गई है, आधुनिक व तेज रफ्तार गाड़ी आ गई है, लोग बहुत तेज गाड़ी चलाते हैं इसलिए हादसों की संख्या बढ़ गई है। लोगोंं को चाहिए कि सावधानी पूर्वक गाड़ी चलाएं। मीडिया व स्वयंसेवी संगठनों की भी जिम्मेदारी है कि जनता में जागरूकता पैदा करे जिससे दुर्घटनाओं में कमी आए।
 
एसएसबी ब्लॉक के अवलोकन के दौरान मुख्यमंत्री ने आरएनटी प्राचार्य सहित चिकित्सालय प्रभारी एवं अन्य विभागाध्यक्षों से यहां दी जा रही स्वास्थ्य सेवाओं के बारे में जानकारी ली और कहा कि सरकार की हर सुविधा गरीब व जरूरतमंद व्यक्ति तक पहुंचनी चाहिए। आप सभी चिकित्सकों को दायित्व है कि मानव सेवा के लिए हरसंभव प्रयास करें और स्वास्थ्य सेवाओं को सुदृढ़ बनाए।डॉ. पोसवाल ने चिकित्सालय पर उपलब्ध अत्याधुनिक सुविधाओं एवं नवाचारों के बारे में मुख्यमंत्री को अवगत कराया।उन्होंने बताया कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार अब यहां आने वाले किसी भी रोगी से किसी प्रकार का शुल्क नहीं लिया जा रहा है। 
 
मुख्यमंत्री चिंरजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना का लिया फीडबैक 
 
इस विजिट के दौरान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के प्रभावी क्रियान्वयन के साथ अब तक योजना की प्रगति के संबंध में आरएनटी प्राचार्य से चर्चा की।
 
उन्होंने कहा कि इस योजना का लाभ हर तबके के व्यक्ति को मिले और वह स्वस्थ होेकर दुआ दे इसके लिए प्रभावी प्रयास करने होंगे।मुख्यमंत्री ने कहा कि अब योजना की राशि 5 लाख से बढ़ाकर 10 लाख रुपये कर दी है इसका व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए और अधिक से अधिक लोगों को इसका लाभ मिले तभी हमारा निरोगी राजस्थान का संकल्प पूरा होगा।
 
इसके साथ ही उन्होंने हाल ही में लागू की निःशुल्क ओपीडी व आईपीडी सेवओं के बारे में जानकारी ली और कहा कि यहां आने वाले रोगी के दर्द को समझते हुए उन्हें इन निःशुल्क सुविधाओं का पूरा-पूरा लाभ दिया जाए। मुख्यमंत्री ने वहां कार्यरत सफाई कर्मचारी एवं सेवाएं दे रहे विभिन्न कार्मिकों व तीमारदारों से भी बातचीत की। 
 
चिकित्सकों ने जताया आभार 
 
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के प्रयासों से प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं के सृदढ़ीकरण एवं विभिन्न योजनाओं के माध्यम से आमजन का राजकीय चिकित्सालयों के प्रति विश्वास बढ़ाने एवं प्रदेश में चिकित्सक सेवा में संलग्न अधिकारियों-कार्मिकों के लिए पुरानी पेंशन लागू करने के साथ ही उन्हें हरसंभव सहायता प्रदान करने के लिए विभिन्न चिकित्सक संघ के प्रभारी एवं प्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री का अभिनंदन किया और आभार जताया।
 
उन्होंने कहा कि प्रदेश के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में चिकित्सक वर्ग की महत्वपूर्ण भूमिका है और इसके लिए आप सभी धन्यवाद के पात्र है। सरकार के स्तर पर चिकित्सकों को पूर्ण सहयोग प्रदान करने का आश्वासन भी दिया।इस अवसर पर राजस्थान मेडिकल कॉलेज टीचर्स एसोसिएशन, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन, ऑल राजस्थान इन सर्विस डॉक्टर्स एसोसिएशन, रेजीडेंट डॅाक्टर एसोसिएशन, स्टूडेंट वेयफेयर काउंसिल के प्रतिनिधियों सहित अन्य चिकित्सक एवं स्वास्थ्य सेवाओं जुडे कार्मिेक उपस्थित रहे।
 
सेल्फी विथ सीएम का क्रेज दिखा 
 
मुख्यमंत्री ने एमबी चिकित्सालय में युवा चिकित्सकों की बात को तल्लीनता से सुना तो युवा चिकित्सक उत्साहित हो उठे। उन्होंने मुख्यमंत्री के साथ सेल्फी खिंचवाने की ईच्छा जताई तो मुख्यमंत्री ने भी अलग-अलग समूह में फोटो खिंचवाया वहीं युवा चिकित्सकों ने जीभर के मुख्यमंत्री के साथ सेल्फी ली।
 
डूंगरपुर से उदयपुर पहुंचने पर हेलीपेड पर हुआ भव्य स्वागत
 
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत अपने निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार शुक्रवार की अपराह्न हेलिकॉप्टर द्वारा डूंगरपुर से उदयपुर पहुंचें। यहां रेलवे ट्रेनिंग पर बनाये अस्थाई हेलीपेड पर मुख्यमंत्री का गर्मजोशी से स्वागत किया। स्थानीय जनप्रतिनिधियों सहित कार्यकर्ताओं ने सूत की माला, उपरना, पुष्पहार, पगड़ी आदि पहनाकर मुख्यमंत्री का स्वागत-अभिनंदन किया। इस अवसर पर पूर्व केन्द्रीय मंत्री डॉ. गिरिजा व्यास, पूर्व मंत्री मांगीलाल गरासिया समाजसेवी लालसिंह झाला, जगदीश राज माली सहित अन्य जनप्रतिनिधि एवं बड़ी संख्या में जिलेभर के कार्यकर्ता मौजूद रहे।
 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
track image
Loading...