दिल्ली के 50 से अधिक बाजार पुनर्विकास योजना का हिस्सा बनने के पहले फेज के लिए आवेदन किया

Share News

@ नई दिल्ली

केजरीवाल सरकार द्वारा दिल्ली के प्रतिष्ठित बाज़ारों के पुनर्विकास करने के महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट को विभिन्न मार्केट एसोसिएशन  से जबरदस्त प्रतिक्रिया मिली है। दिल्ली के सभी प्रमुख बाजारों का प्रतिनिधित्व करने वाले लगभग 50 मार्केट एसोसिएशन ने आगे आकर अपने बाजारों को पुनर्विकास के लिए चुनने के लिए दिल्ली सरकार द्वारा जारी किए गए लिंक पर आवेदन किया है। पिछले महीने उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने दिल्ली के 40 मार्केट एसोसिएशन के सदस्यों के साथ बैठक कर उनसे शहर के प्रतिष्ठित बाजारों के पुनर्विकास के लिए सुझाव लिए थे।

बैठक के ठीक बाद, सरकार ने मार्केट एसोसिएशन से उनके बाजारों और वहां मौजूदा समस्याओं के बारे में विवरण मांगने के लिए एक लिंक जारी किया था। लिंक पर आवेदन देने की  अंतिम तिथि 6 मई 2022 थी। मार्केट एसोसिएशन ने केजरीवाल सरकार के इस अनूठे पहल में बड़े उत्साह के साथ भाग लिया। दिल्ली के सभी प्रमुख बाजारों ने अब अपने पुनर्विकास के लिए सरकार से मदद मांगी है। और दिल्ली के 50 मार्किट एसोसिएशन ने इसके लिए आवेदन किया है।

 दिल्ली सरकार अधिक से अधिक रोजगार पैदा करने व लोगों को खरीददारी का बेहतर अनुभव देने के साथ-साथ व्यापार को बढ़ाने के दृष्टिकोण के साथ मूल्यांकन करते हुए इन आवेदनों में से पुनर्विकास के लिए शीर्ष 5 बाजारों को चयन करने की प्रक्रिया को शुरू करेगी।

बाजार पुनर्विकास के अगले चरण में क्या किया जाएगा

सरकार प्राप्त आवेदनों का मूल्यांकन करने के लिए एक चयन समिति गठित करने की योजना बना रही है जो सभी बातों का ध्यान रखते हुए पुनर्विकास के लिए 5 बाजारों का सावधानीपूर्वक चयन करेंगे।

पुनर्विकास की प्रक्रिया में सरकार मार्केट एसोसिएशन को भी शामिल करेगी और उनके इनपुट को ध्यान में रखते हुए बाजारों के पुनर्विकास का काम करेगी ताकि बाजार में व्यापार करने वाले व्यवसायियों को इसका अधिकतम लाभ मिले। पुनर्विकास के लिए चुने जाने के बाद इन बाजारों का सावधानीपूर्वक अध्ययन किया जाएगा और उन प्रमुख मुद्दों को समझने के लिए सर्वेक्षण किया जाएगा जिन्हें हल करने की आवश्यकता है और फिर उनके पुनर्विकास की योजना निर्धारित की जाएगी।

बाज़ार पुनर्विकास योजना की मुख्य विशेषताएं

केजरीवाल सरकार द्वारा चयनित बाजारों को मॉडल मार्केट्स के रूप में विकसित किया जाएगा। इन बाजारों के विकास के लिए दुनियाभर के बेस्ट प्रैक्टिसेज को अपनाया जाएगा। सरकार इसके लिए सर्वश्रेष्ठ-इन-क्लास आर्किटेक्चरल फर्मों का चयन करेगी जो चयनित बाजारों के इंफ्रास्ट्रक्चर को डेवलप करने का काम करेंगे।

बाजारों में विश्वस्तरीय सड़कों को विकसित करने के साथ-साथ बिजली की लाइनों में सुधार करने, सीवेज पाइपलाइनों को बेहतर करने, पार्किंग एरिया डेवलप करने, सड़कों पर भीड़भाड़ कम करने के साथ-साथ, पैदल यात्रियों के लिए अनुकूल फुटपाथ आदि जैसी चीजें विकसित की जाएंगी जिससे बड़ी संख्या में खरीददारों की बाजारों तक आवागमन की पहुंच आसान बनेगी और उन्हें एक बेहतर एक्सपीरियंस मिलेगा। ग्राहकों के साथ-साथ विक्रेताओं को अधिकतम सुविधा सुनिश्चित करने के लिए बाजार के चारों ओर के क्षेत्र को विकसित करने पर भी ध्यान दिया जाएगा। इन मॉडल बाजारों के लिए ब्रांडिंग और मार्केटिंग भी की जाएगी, जिससे उन्हें दुनिया भर में पहचान मिलेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
track image
Loading...