दिल्ली लाहौरी गेट में घर ढहने से चार साल की बच्ची की मौत

Share News

@ नई दिल्ली

पुरानी दिल्ली के लाहौरी गेट के फराशखाना इलाके में एक पुराना दो मंजिला जर्जर मकान भरभरा कर ढह गया। हादसे में एक बच्ची की मौत हो गई, जबकि अब तक 11 लोगों को मलबे से निकालकर अस्पताल पहुंचाया गया है। जिन लोगों को तड़के निकाला गया है उनके स्वास्थ्य की जांच टीम करेगी। अभी राहत और बचाव का काम जारी है। घायलों की संख्या बढ़ सकती है।

हादसे की सूचना मिलते ही कमला मार्केट, हौज काजी थाना पुलिस, दमकलकर्मी और एनडीआरएफ का दस्ता मौके पर पहुंचा। लेकिन तब तक स्थानीय लोगों ने मलबे से करीब पांच लोगों को बाहर निकालकर लोक नायक अस्पताल पहुंचा चुके थे। दमकलकर्मी और एनडीआरएफ के दस्ते ने मलबे में दबे चार और लोगों को बाहर निकालकर उन्हें अस्पताल पहुंचाया। जहां बच्ची को मृत घोषित कर दिया गया। एक महिला की हालत नाजुक बनी हुई है। दो से तीन लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका है।

स्थानीय लोगों के मुताबिक हादसे के समय इमारत में अलग-अलग मंजिल पर करीब दर्जन भर लोग मौजूद थे। जिसमें से अधिकांश लोगों को बाहर निकाला जा चुका है। जांच में पता चला है कि जर्जर मकान की छत टपक रही थी, जिसकी वजह से मकान भरभराकर गिर गया।दमकल विभाग के निदेशक अतुल गर्ग ने बताया कि रविवार शाम 7.28 बजे फराशखाना के वाल्मीकि मंदिर के पास दो मंजिला मकान के गिरने और मलबे में कुछ लोगों के दबे होने की जानकारी मिली थी। राहत बचाव के लिए तुरंत दमकल की पांच गाड़ियों को मौके पर भेजा गया। बाद में तीन और गाड़ियों के मौके पर भेजा गया। पहले पांच और फिर चार लोगों को मलबे से निकालकर पुलिस की मदद से अस्पताल में भर्ती कराया गया।

मृत बच्ची की शिनाख्त चार साल की खुशी के रूप में हुई है। जबकि घायलों की पहचान अमरा (45), निलोफर (50), मोहम्मद इमरान (40), सरकार बेगम (60), सुखवीर (34), अंकित (28), अशोक (40) और जिशान (30) के रूप में हुई है। एनडीआरएफ की टीम खोजी कुत्ते की मदद से मलबे में फंसे लोगों की तलाश में जुटी हुई है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
track image
Loading...