गृह मंत्री ने गुजरात के साणंद में 350 बिस्तरों वाले ईएसआईसी अस्पताल की आधारशिला रखी

Share News

@ गांधीनगर गुजरात 

केंद्रीय गृह और सहकारिता मंत्री अमित शाह ने गुजरात के अहमदाबाद के साणंद में 350 बिस्तरों वाले (500 बिस्तरों तक अपग्रेड करने योग्य) ईएसआईसी अस्पताल की आधारशिला रखी। 350 बिस्तरों वाले अस्पताल में ओपीडी, इनडोर सुविधाएं, एक्स-रे, रेडियोलॉजी, प्रयोगशाला, ऑपरेशन थियेटर, प्रसूति एवं स्त्री रोग सुविधाएं, आईसीयू और अल्ट्रासाउंड सहित अन्य आधुनिक सुविधाएं होंगी। 9.5 एकड़ में फैले अस्पताल के निर्माण पर 500 करोड़ रुपये खर्च होंगे। इसे जल्द ही आवश्यकता के अनुसार 500 बिस्तरों वाले अस्पताल में अपग्रेड किया जा सकता है। गृह मंत्री ने कहा कि अस्पताल 12 लाख कर्मचारियों और उनके परिवारों उनके परिवारों को सर्वोत्तम चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध होगी।

अमित शाह ने स्वास्थ्य बुनियादी ढांचे के लिए प्रधानमंत्री के तीन आयामी समग्र दृष्टिकोण को दोहराया जिसमें चिकित्सा विज्ञान के बुनियादी ढांचे और मानव संसाधनों का विस्तार करना; आयुष जैसी पारंपरिक भारतीय चिकित्सा को मुख्यधारा में लाना; और प्रौद्योगिकी के उपयोग के माध्यम से विशेषज्ञता की उपलब्धता का विस्तार करना शामिल हैं।

इस अवसर पर केंद्रीय श्रम एवं रोजगार, पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री भूपेंद्र यादव ने कहा कि राज्य और प्रशासन के सहयोग से परिणाम कुशलतापूर्वक प्राप्त करना संभव है। उन्होंने कहा कि 500 बिस्तरों वाला अस्पताल सबसे आधुनिक अस्पताल होगा, जिसमें न केवल कर्मचारियों को बल्कि क्षेत्र के सभी ग्रामीणों को भी सर्वोत्तम चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध होंगी। उन्‍होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति स्वास्थ्य सुविधाओं से वंचित नहीं रहेगा।

अमित शाह ने श्रम मंत्रालय को “स्वास्थ्य से समृद्धि” का मंत्र प्रदान करने के लिए प्रधानमंत्री को धन्यवाद दिया। भारत को आत्मनिर्भर बनाने के लिए जरूरी है कि श्रम बल का हर भागीदार स्वस्थ रहे। उन्‍होंने बताया कि डॉ. बी.आर. अम्बेडकर द्वारा शुरू की गई 70 साल पुरानी ईएसआईसी योजना ने अपने उद्देश्य को बहुत अच्छी तरह से पूरा किया है। ईएसआईसी योजना के तहत 3 करोड़ 90 लाख परिवार और 12 करोड़ लाभार्थी हैं। हमारी उपस्थिति देश भर के 598 जिलों में दिखाई दे रही है और “आजादी का अमृत महोत्सव” के 75 वें वर्ष में, मंत्रालय ने देश के 750 से अधिक जिलों में ईएसआईसी की पहुंच का विस्तार करने का संकल्प लिया है। शाह ने कहा कि ईएसआईसी अब व्यावसायिक आधार पर काम कर रहा है और महिला श्रम बल के स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान देते हुए कार्य के विभिन्न क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित कर रहा है।

350 बिस्तरों वाले अस्पताल की नींव रखने और अपने संबोधन से प्रेरित करने के लिए गृह मंत्री अमित शाह को धन्यवाद देते हुए यादव ने अहमदाबाद के सभी वास्तुकला स्कूलों और कॉलेजों के छात्रों के लिए साणंद ईएसआईसी अस्पताल के लिए वास्तुशिल्प डिजाइन बनाने के लिए एक प्रतियोगिता की घोषणा की। उन्होंने विजेता के लिए एक लाख रुपये, उपविजेता के लिए 50,000 रुपये और शीर्ष पांच डिजाइनों को 25,000 रुपये के तीन नकद पुरस्कार देने की भी घोषणा की।

यादव ने कहा कि अस्पताल अगले 100 वर्षों तक मरीजों और स्थानीय ग्रामीणों की सेवा करता रहेगा। मंत्री ने इस अवसर पर गुजरात सरकार द्वारा व्यवसाय सुरक्षा संहिता तैयार करने की दिशा में किए गए प्रयासों की सराहना की। उन्होंने भवन और निर्माण क्षेत्र में कार्यबल तक अपनी पहुंच बढ़ाने के ईएसआईसी के संकल्प को भी साझा किया ताकि उन क्षेत्र में काम करने वालों को भी सम्मानजनक जीवन जीने का अवसर मिल सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
track image
Loading...