गुगर ने विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा विकसित विभिन्न क्षेत्रों में दिलचस्पी दिखाई

Share News

@ नई दिल्ली

स्विटजरलैंड के सांसद निकलॉस सैमुअल गुगर ने आज नई दिल्ली में केंद्रीयविज्ञान एवं प्रौद्योगिकी और पृथ्वी विज्ञान राज्यमंत्री एवं प्रधानमंत्री कार्यालय, कार्मिक, लोक शिकायत, पेंशन, परमाणु ऊर्जा और अंतरिक्ष राज्यमंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह से मुलाकात की। दोनों नेताओं ने स्वास्थ्य सेवा, टेलीमेडिसिन और प्रौद्योगिकी विकास जैसे क्षेत्रों में व्यापक सहयोग की संभावनाओं पर चर्चा की।

भारत दौरे पर आए गणमान्य अतिथि ने भारत की नई शिक्षा नीति में काफी दिलचस्पी दिखाई और नीति के पहलुओं के बारे में ज्यादा जानकारी की इच्छा व्‍यक्‍त की।उन्होंने सतत विकास लक्ष्यों के लिए विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय

भारत सरकार द्वारा बनाए गए 25 प्रौद्योगिकी केंद्रों और विभिन्न क्षेत्रों में प्रौद्योगिकी सहयोग में रुचि व्यक्त की।डॉ. जितेंद्र सिंह ने कहा कि चूंकि भारत और स्विटजरलैंड परंपरागत रूप से सौहार्दपूर्ण व पारस्परिक रूप से भरोसेमंद संबंध साझा करते हैं

इसलिए दोनों देशों के लिए पहले से मौजूद सहूलियत के आधार पर एक-दूसरे के साथ जुड़ना आसान है।डॉ. जितेंद्र सिंह ने उम्मीद है कि स्विटजरलैंड से एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल इस साल अक्टूबर में भारत का दौरा करेगा और दोनों पक्षों से संबंधित मुद्दों पर द्विपक्षीय संबंधों को एक नई ऊंचाई पर ले जाने के प्रयास होंगे जो पारस्परिक रूप से लाभप्रद हैं।

इस अवसर पर डॉ. जितेंद्र सिंह ने 2018 में दावोस की अपनी यात्रा को याद किया जब प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने विश्व आर्थिक मंच के वैश्विक सम्मेलन को संबोधित किया था। केंद्रीय मंत्री ने स्विटजरलैंड के लोगों द्वारा गर्मजोशी के साथ किए गए स्वागत को भीयाद किया।

दोनों नेताओं के बीच आमने-सामने की चर्चा के बाद दोनों पक्ष अपने-अपने प्रतिनिधियों से मिले। चर्चा के दौरान, भारतीय पक्ष ने ग्लेशियर के क्षेत्र में पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा किए जा रहे व्यापक कार्यों के बारे में अतिथि पक्ष को जानकारी दी, जिसमें स्विस प्रतिनिधियों ने गहरी दिलचस्पी दिखाई क्योंकि यह विषय स्विटजरलैंड के लिए भी उतना ही महत्वपूर्ण है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
track image
Loading...