केजरीवाल सरकार ने थैलेसीमिया के लगभग 100 दिवांगजनों का विकलांग प्रमाण पत्र बनाने की प्रक्रिया शुरु

Share News

@ नई दिल्ली

समाज कल्याण मंत्री   राजेंद्र पाल गौतम आज गुरु तेग बहादुर हॉस्पिटल दिलशाद गार्डन में दिव्यांगजन सहायता शिविर में शामिल हुए। समाज कल्याण विभाग के उत्तर पूर्वी जिला कार्यालय द्वारा आयोजित शिविर में दिल्ली सरकार, केंद्र सरकार सहित कई अन्य सामाजिक संस्थाएं भी शामिल हुई।

इस दिव्यांगजन शिविर में जिला शाहदरा सहित दिल्ली निवासियों को दिव्यांग जन से जुड़ीं विभिन्न प्रकार की सेवाएं जैसे, विकलांग प्रमाण पत्र, यूडीआईडी कार्ड, डिजिटल विकलांग प्रमाण पत्र, डीटीसी पास, रेलवे विभाग पास, लोन, सहायक उपकरण जैसी अनेक सेवाऐं हाथों हाथ प्रदान की गईं।

साथ ही इस शिविर में सभी को दिल्ली की केजरीवाल सरकार द्वारा चलाई गई कल्याणकारी योजनाओं के बारे में भी सभी को अवगत कराया गया। इस शिविर में लगभग 1 हजार लोगों का यूडीआईडी पंजीकरण हुआ।

विकलांगता सहायता कैंप के अंतर्गत धारणा यह है कि एक ही छत के नीचे दिव्यांग जनों को सभी सुविधाएं प्रधान की जाएं। जिससे उनकी समस्याओं का निराकरण जल्दी हो और उन्हें अपने छोटे छोटे कार्यों के लिए अलग-अलग दफ्तरों के चक्कर ना काटने पड़ें।

इस शिविर के माध्यम से पहली बार दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने थैलेसीमिया से प्रभावित लगभग 100 दिवांगजनों का विकलांग प्रमाण पत्र बनाने की प्रक्रिया की शुरुआत की। अभी तक यह सुविधा केवल दिल्ली के आरएमएल तथा एआईआईएमएस तक ही सीमित थी। अब यह सुविधा दिल्लीवालों को दिल्ली सरकार के जीटीबी अस्पताल में भी मिलेगी।

इस अवसर पर समाज कल्याण मंत्री ने कहा कि दिल्ली की केजरीवाल सरकार पंक्ति में खड़े आखिरी व्यक्ति तक हर संभव मदद के लिए वचनबद्ध है। साथ ही उन्होंने बताया कि जल्द ही दिव्यांगजनों के लिए नई योजनाओं को उनके जीवन में और गुणवत्ता लाने के लिए दिल्ली सरकार प्रयास कर रही है और बहुत जल्द क्रियान्वित शुरू करेगी। साथ ही केजरीवाल सरकार का प्रयास है की दिव्यांग जनों के लिए हर जिले में जल्द ही एक थैरेपीयूटिक पुनर्वास केंद्र की स्थापना की जाए। जिसके लिए विभाग को पहले से ही निर्देशित किया जा चुका है

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
track image
Loading...