मुझे वह सम्मान नहीं मिला जिसका हकदार था : क्रिस गेल

Share News

@ नई दिल्ली

टी20 क्रिकेट के सर्वकालिक महान खिलाड़ियों में से एक क्रिस गेल ने खुलासा किया कि इंडियन प्रीमियर लीग में पिछले दो वर्षों में उनके साथ अच्छा व्यवहार नहीं किया गया और इतना कुछ करने के बावजूद सम्मान नहीं मिलने के कारण ही उन्होंने आईपीएल-15 से बाहर रहने का फैसला किया।

आईपीएल की शुरुआत से ही वेस्टइंडीज का यह तेजतर्रार बल्लेबाज शानदार प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों में शामिल रहा है।कोलकाता नाइट राइडर्स और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर की तरफ से खेलने के बाद, ‘द यूनिवर्स बॉस’ पंजाब किंग्स से जुड़ा था।

उनके लिये 2019 का सत्र अच्छा रहा था और वह सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाजों की सूची में छठे नंबर पर थे लेकिन 2020 और 2021 में उनके लिये पंजाब की अंतिम एकादश में जगह बनाना मुश्किल हो गया था।गेल ने पिछले साल 10 मैचों में 125.32 की स्ट्राइक रेट से 193 रन बनाए थे, जबकि 2020 में उन्होंने सिर्फ सात मैच खेले और 288 रन बनाये।गेल ने ‘मिरर.सीओ.यूके’ से कहा, पिछले कुछ वर्षों में आईपीएल में जो कुछ हुआ, मुझे लगा कि मेरे साथ ठीक से व्यवहार नहीं किया गया।

उन्होंने कहा, इसके बाद मैंने सोचा ‘ठीक है, आपको खेल और आईपीएल के लिये इतना कुछ करने के बाद भी वह सम्मान नहीं मिला जिसके आप हकदार थे। इसलिए मैंने सोचा यदि ऐसा है तो ठीक है, मैं खिलाड़ियों की नीलामी में अपना नाम शामिल नहीं करूंगा, इसलिए मैं उससे हट गया।गेल ने कहा, क्रिकेट के बाद भी जीवन होता है और मैं इससे सामंजस्य बिठाने की कोशिश कर रहा हूं।जमैका का यह ‘बिग हिटर’ हालांकि अगले साल लीग में वापसी करना चाहता है तथा आरसीबी या पंजाब किंग्स के लिये खिताब जीतना चाहता है।

गेल ने कहा, मैं अगले साल वापसी करूंगा। उन्हें मेरी जरूरत है। आईपीएल में मैंने तीन टीमों का प्रतिनिधित्व किया है – कोलकाता, आरसीबी और पंजाब का। मैं आरसीबी और पंजाब में से किसी एक टीम में रहकर खिताब हासिल करना पसंद करूंगा। आरसीबी में मेरा प्रदर्शन अच्छा रहा है और पंजाब भी अच्छा है।गेल ने आईपीएल में 142 मैचों में 4,965 रन बनाये। उनके नाम पर आईपीएल में एक पारी में सर्वाधिक स्कोर (175 रन) बनाने का रिकॉर्ड है जो उन्होंने 2013 में पुणे वॉरियर्स के खिलाफ बनाया था।(भाषा)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
track image
Loading...