मुख्यमंत्री द्वारा गोविंदपुर में जिला सहकारी बैंक की शाखा खोलने की घोषणा

Share News

@ रायपुर छत्‍तीसगढ़

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज भेंट-मुलाकात कार्यक्रम के तहत प्रतापपुर विधानसभा क्षेत्र के ग्राम गोविंदपुर पहुंचे। मुख्यमंत्री ने गोविंदपुर में क्षेत्र के विकास के लिए अनेक महत्वपूर्ण घोषणाएं की। उन्होंने माता राजमोहिनी समाधि स्थल परिसर में गेट निर्माण, सौंदर्यीकरण और अहाता निर्माण के लिए 50 लाख रुपए देने की घोषणा।इसी प्रकार झरिया ज्वाला देवी मंदिर का सौंदर्यीकरण, 33/11 केवी सबस्टेशन की स्थापना की घोषणा की।

विद्युत उप केन्द्र की स्थापना से आप-पास के 95 गांवों को फायदा होगा। मुख्यमंत्री ने हाथी की समस्या से निपटने के लिए इस क्षेत्र के 11 गांवों में 33 जगहों पर सोलर लाइट लगाने, गोविंदपुर में जिला सहकारी केंद्रीय बैंक की शाखा खोलने, 11 नंबर चौकी से रमकोटा मार्ग निर्माण की घोषणा की।

ग्रामीणों की शिकायत पर मुख्यमंत्री ने गोविंदपुर में आवर्ती चराई गौठान निर्माण में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों के निलंबन की कार्यवाही की घोषणा भी की। नगरीय प्रशासन एवं विकास मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया और स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री ने गोविंदपुर की आंगनबाड़ी का निरीक्षण भी किया। आंगनबाड़ी में वे  बच्चों से मिले और बच्चों को अपने हाथों से टॉफी वितरित की। उन्होंने आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिका से आंगनबाड़ी के संचालन के बारे में पूछा। मुख्यमंत्री ने उनसे बच्चों को दिए जाने वाले पोषण आहार और आंगनबाड़ी को नियमित खोलने के संबंध में जानकारी ली।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ग्राम पंचायत गोविंदपुर के जजावल उप स्वास्थ्य केंद्र में कोविड मरीजों के लिए 6 बिस्तर वार्ड का लोकार्पण भी किया। भूपेश बघेल ने गोविंदपुर में समाज सेवी स्वर्गीय शीतल प्रसाद कन्नौजे के परिवार के साथ दोपहर का भोजन किया। उन्होंने शीतल प्रसाद कन्नौजे के पुत्र आदित्य लाल कन्नौजे को अपने पास बुलाकर अपने साथ भोजन के लिए बिठाया। मुख्यमंत्री वहां लोगों से मिलकर उनका हलचल पूछा। उन्होंने दो बुजुर्गों नंदका और सोमन लाल के साथ फोटो खिंचाई और उनसे हालचाल पूछा।

मुख्यमंत्री बघेल ने गोविंदपुर के ग्राम पंचायत भवन में भी दस्तावेजों की बारिकी से पड़ताल की। उन्होंने ग्राम पंचायत के सचिव से विधवा पेंशन और मुख्यमंत्री पेंशन के बारे में जानकारी ली। उन्होंने दोनों पेंशन योजना से संबंधित दस्तावेज भी मांगकर देखे। मुख्यमंत्री ने पंचायत सचिव और प्रतापपुर जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी से कब तक का पेंशन पात्र हितग्राहियों को वितरित किया जा चुका है, इसके बारे में भी जानकारी ली।

मुख्यमंत्री ने पंचायत सचिव और जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी से पेंशन वितरण की जानकारी वाले पुराने और नए रजिस्टर के बारे में भी पूछा। उन्होंने मुख्यमंत्री पेंशन की रजिस्टर में दर्ज सूची और इसकी कम्प्यूटराईज्ड सूची का मिलान भी करवाया। मुख्यमंत्री ने राशन कार्ड बनाने के लंबित आवेदन के बारे में भी जानकारी ली। उन्होंने निर्देश दिए कि किसी भी योजना से संबंधित आवेदन लंबित नहीं रहना चाहिए। हितग्राहियों के आवेदन पर त्वरित कार्यवाही करते हुए उनका तत्काल निराकरण करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
track image
Loading...