मुख्यमंत्री मेधावी विद्यार्थी योजना में मिलेगी उच्च शिक्षा के लिए सहायता : शिवराज सिंह चौहान

Share News

@ भोपाल मध्यप्रदेश

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मुख्यमंत्री मेधावी विद्यार्थी योजना में उच्च शिक्षा के लिए शिक्षण शुल्क की व्यवस्था राज्य सरकार करेगी। विद्यार्थियों को उनकी प्रतिभा के अनुकूल अजीविका मिले, इसमें अब अर्थाभाव आड़े नहीं आएगा। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना में युवाओं को औद्योगिक इकाई प्रारंभ करने के लिए 1 से 50 लाख तक की राशि दिलवाई जाएगी।

प्रदेश में शीघ्र ही नई स्टार्टअप नीति आ रही है। इंदौर के युवाओं ने स्टार्टअप के क्षेत्र में रूचि ली है। करीब 600 कंपनियाँ इंदौर में कार्य कर रही हैं। युवाओं को स्टार्टअप के लिए सभी संभव सहयोग राज्य सरकार करेगी।मुख्यमंत्री चौहान ने आज शाम बंसल ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट में विद्यार्थियों को प्लेसमेंट लेटर प्रदान कर रहे थे। उन्होंने विभिन्न संस्थानों में 5 से 42 लाख के सालाना पैकेज पर चयनित विद्यार्थियों को बधाई और शुभकामनाएँ दीं। संस्थान के करीब दो हजार विद्यार्थियों को विभिन्न क्षेत्रों में रोजगार मिला है।

मध्यप्रदेश तेजी से बढ़ा है विकास की ओर

मुख्यमंत्री चौहान ने कुछ विद्यार्थियों द्वारा किए गए प्रश्नों के उत्तर भी दिए। उन्होंने सरकारी स्कूल में हिंदी माध्यम से शिक्षा प्राप्त करने, 11वीं कक्षा में अध्ययन करते हुए आपातकाल में कारावास जाने, फिर सामाजिक कार्यों में भागीदारी करते हुए संगठनों के लिए किए गए कार्य, इसके बाद विधायक, सांसद और मुख्यमंत्री के रूप में किए गए कार्य का ब्यौरा दिया।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि दृढ़संकल्प से व्यक्ति सफलता प्राप्त करता है। मध्यप्रदेश को देश का ही नहीं बल्कि दुनिया का अद्भुत राज्य बनाने के लिए वे जिद, जुनून और जज्बे से कार्य कर रहे हैं।स्वामी विवेकानंद उनके आदर्श हैं। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा प्रदेश तेजी से विकास की ओर बढ़ा है। प्रदेश की विकास दर 19.7 प्रतिशत है, जो अन्य राज्यों से अधिक है। इसी तरह देश की जीडीपी में मध्यप्रदेश का योगदान 3.6 प्रतिशत से बढ़कर 4.6 प्रतिशत हो गया है। एक समय प्रदेश की प्रति व्यक्ति औसत वार्षिक आय 13 हजार रूपये थी, जो निरंतर वृद्धि के बाद 1 लाख 23 हजार वार्षिक हो गई है। अब मध्यप्रदेश अग्रणी प्रदेशों में शामिल है।

 अपराधियों के कृत्य अक्षम्य

मुख्यमंत्री चौहान ने जानकारी दी कि राज्य सरकार ने गत 2 वर्ष में माफिया से 21 हजार एकड़ भूमि मुक्त करवाई गई है। इस भूमि पर निर्धन वर्ग के लिए आवास निर्माण किया जाएगा। प्रदेश में दुराचारियों के लिए कोई स्थान नहीं है, उनके कृत्य अक्षम्य हैं। दुराचारियों और उत्पातियों के मकानों पर बुलडोजर चलाने का अभियान चल रहा है। मध्यप्रदेश सरकार सज्जनों के लिए पुष्प सी कोमल और दुर्जनों के लिए वज्र से भी कठोर है।

मुख्यमंत्री चौहान ने विद्यार्थियों को दिए ये टिप्स

अपने कार्य का उत्साह बनाए रखें, स्वयं की सहायता करें, असंभव कुछ नहीं, प्रयास करते रहें, निरंतर कार्य करें, लक्ष्य तय कीजिये, लक्ष्य हासिल करने का रोड मेप बनाएँ, कड़ा परिश्रम करें, फिटनेस पर भी ध्यान दें, सफलता पर मुग्ध न हों, अहंकार न पालें, करुणा, स्नेह, सहयोग का भाव रखें और यह प्रयास करें कि सदैव मन उत्साह से भरा रहे।

मध्यप्रदेश के मॉडल की झलक मिली नृत्य नाटिका में

मुख्यमंत्री चौहान के समक्ष बंसल इंस्टीट्यूट के विद्यार्थियों ने कोरोना नियंत्रण में जन-भागीदारी से किए गए प्रयासों के मध्यप्रदेश सरकार के मॉडल को प्रस्तुत किया। लघु नाटिका के माध्यम से चिकित्सक वर्ग, पैरामेडिकल स्टाफ, पुलिस के अमले और नागरिकों के सहयोग एवं जागरूकता से किस तरह महामारी पर बेहतर नियंत्रण किया गया, इसकी झलक अभिनय और गीत संगीत के साथ प्रस्तुत की गई।

जीवन शक्ति योजना में संस्थान ने मॉस्क बनाने के कार्य में भी सहयोग दिया। विभिन्न खेलों और एन.सी.सी. एवं एन.एस.एस. में संस्थान के विद्यार्थी सक्रिय रहे हैं। कार्यक्रम में विद्यार्थियों के साथ ही संस्थान के प्लेसमेंट मैनेजर और अध्यापक भी सम्मानित किए गए। राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के कुलपति सुनील कुमार, बंसल समूह के अनिल बंसल भी उपस्थित थे। संचालन शरद द्विवेदी, एडिटर बंसल न्यूज़ ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
track image
Loading...