प्राचीन शिव शनि हनुमान मन्दिर, कीर्ति नगर, नई दिल्ली भाग: १२९,पँ० ज्ञानेश्वर हँस “देव” की कलम से

Share News

भारत के धार्मिक स्थल: प्राचीन शिव शनि हनुमान मन्दिर, कीर्ति नगर, नई दिल्ली भाग: १२९

आपने पिछले भाग में पढ़ा : भारत के प्रसिद्ध धार्मिकस्थल: सन्तोषी माता मन्दिर, हरि नगर, नई दिल्ली! यदि आपसे यह लेख छूट गया हो और आपमें पढ़ने की जिज्ञासा हो तो आप प्रजा टुडे की वेबसाइट की धर्म-सहित्य पृष्ठ पर जा कर उक्त लेख पढ़ सकते हैं!

आज हम भारत के धार्मिक स्थल: शिव हनुमान शनि मन्दिर, कीर्ति नगर, नई दिल्ली भाग: १२९

८/३५, इंडस्ट्रियल एरिया ७/२१ के सामने, कीर्ति नगर नई दिल्ली में स्थित है प्राचीन शिव शनि हनुमान मन्दिर! यह साँस्कृतिक रुचि के स्थानों में से एक महत्वपूर्ण स्थान रखता है, जिसका दिल्ली शहर में, विशेषकर कीर्तिनगर के श्रद्धालुओं के जीवन में अति महत्व है! कीर्ति नगर के इस प्राचीन शिव शनि हनुमान मन्दिर के बारे में पाठकों को इतना बता दें कि उक्त मन्दिर में जाकर पूजा अर्चनाका भाव हृदय में लाने से पूर्व ही सहज शाँति का अनुभव होने लगेगा! यहाँ योग साधना व ज्योतिष शास्त्र की शिक्षा भी मिलती है!

पण्डित ज्ञानेश्वर हँस “देव” ने उक्त मन्दिर के बारे में जानने की जिज्ञासा हेतु श्री प्रभु नारायण जी से बात करनी चाही, तो उन्होंने दूरभाष की बजाय मिलने के लिए उत्सुकता दिखाई! यद्यपि वो फ़र्रुख नगर किसी कार्य से गये हुए थे, उनके साथ श्री अशोक कुमार बंसल भी थे! श्री प्रभु नारायण जी ने पँ०देव को बताया कि उक्त प्राचीन मन्दिर में प्रत्येक शनीचर वार और मङ्गल वार को सुन्दर काण्ड पाठ, यज्ञ- हवन, भण्डारा नियम से होता है!

यदि कोई भक्त यहाँ भण्डारे की सेवा करना चाहे तो वो श्री प्रभु नारायण जी से सम्पर्क कर सकता है दूरभाष नँ०: 9818158298 है! वार्ता से पता चला कि प्रभु जी ने अन्न का परीत्याग ३५ वर्ष से अधिक हो गए किया हुआ है! प्राचीन नारायण ज्योतिष संस्थान

पँजिकृत के अंतर्गत ही आता है प्राचीन शिव शनि हनुमान मन्दिर! इनके अध्यक्ष श्री प्रभुनारायण जी के सुपुत्र श्री धर्मेंद्र नारायण जी ज्योतिष विद्या में पी एच डी कर रहे हैं एवँ ज्योतिष शास्त्र के ज्ञाता हैं!

ज्योतिष शास्त्र पढ़ाते भी हैं! पूछने पर श्री इन्होंने बताया कि विवाह शादी के लिए विशेष तौर पर धर्मेन्द्र नारायण जी को दूर दूर से बुलावा आता है! व शादी पढ़ने जाते हैं! शिव के ही अँश हनुमान हैं, शनिदेव और मारुति को पूजने वाले को प्रेत भूत बाधा कभी सता नहीँ सकती, भूतों के, देवों के देव महादेव के नाम पर ही मन्दिर का नाम प्राचीन शिव शनि हनुमान मन्दिर रखा गया!

शाबर मन्त्रों का अपना एक विशेष महत्व है! यह मन्त्र सरल व आसान होते हैं जिनका प्रयोग किसी भी व्यक्ति द्वारा सरलता से किया जा सकता है! इन मन्त्रों के प्रयोग से आप सम्बंधित देव को आसानी से प्रसन्नचित्त कर सकते हैं! श्री प्रभु नारायण जी ने बताया सूर्यपुत्र श्री शनि देव का पूजन करने से विभिन्न प्रकार के फल प्राप्त किये जाते हैं! शनि नारायण को, ऐसे अनूठे देवता को, न्याय का देव भी कहा जाता है!

बहुत से लोग शनि देव को एक क्रूर ग्रह मानते हैं, किन्तु आप यदि पूर्ण भक्ति भाव से शनि देव का पूजन करते हैं तो, आप भी अपने जीवन में मनचाही इच्छा को पूर्णत: प्राप्त कर सकते हैं! श्री शनि देव को आसानी से प्रसन्न करने के लिए आप शनिवार को शुद्धता से श्री शाबर मन्त्र का प्रयोग कर सकते हैं!

शनि देव का प्राचीनतम प्रसिद्ध मन्त्र :-

ॐ शनोदेवीरभिष्टय आपो भवन्तु पीतये
शंयोरभिश्रवन्तु न: ॐ शं शनैश्चराय नम:

शनि देव का शाबर मन्त्र:

ॐ’औम’ गुरू जी थावर वार!
थावर आसन थर हरो!
पॉंच तत्व की विद्या करो
पँचतत्व का साधो करो विचार!
तो गुरू-s ss पावूं थावर वार
शनिवार कश्यपगोत्र कृष्णवर्ण
तेईस – हजार जाप सोरठ देश
पश्चिमस्थान धनुषाकारमण्डल
तीन – अंगुल़, मकर – कुम्भ
राशि के गुरू को नमस्कार!
सत – फिरे तो, वाचा – फिरे,
पानफूलवासना सिंहासन धरे!
तो इतरो काम थावर जी
महाराज करे!ॐ फट् स्वाहा!!

शनि देव शाबर मन्त्र पठित्वा:

श्री शनि देव जी की आरती :

जयजय श्री शनिदेव भक्तन हितकारी।
सूरज के पुत्र प्रभुss छाया महतारी॥
जयजय श्रीशनिदेव भक्तन हितकारी॥
श्याम अंग वक्र – दृ‍ष्टि चतुर्भुजा धारी।
निलाम्बर धारनाथ गज की असवारी॥
जयजय श्रीशनिदेव भक्तन हितकारी॥
क्रीटमुकुट शीशसहजदीपतहै लिलारी।
मुक्तन कीमाल गले शोभित बलिहारी॥
जयजय श्रीशनिदेव भक्तन हितकारी॥
मोदकऔरमिष्ठानचढ़े,चढ़े पानसुपारी।
लोहातिलतेलउड़द महिषीअतिप्यारी॥
जयजय श्रीशनिदेव भक्तन हितकारी॥
देव दनुज ऋषिमुनि सुमिरत नर नारी।
विश्वनाथधरतध्यान हमशरण तुम्हारी॥
जयजय श्रीशनिदेव भक्तन हितकारी॥
श्री शनि देव आरती पठित्वा:

हवाई मार्ग से कैसे पहुँचें मन्दिर :

पालम के इन्दिरगाँधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के टर्मिनल १ से आप कैब से ६० से 6५ मिन्ट्स में पहुँच सकते हो!

रेल मार्ग से कैसे पहुँचें मन्दिर :

मेट्रो रेल से आप कीर्तिनगर मेट्रो स्टेशन उतर आसानी से पैदल ही ८/३५, इंडस्ट्रियल एरिया ७/२१ के सामने, कीर्ति नगर नई दिल्ली में स्थित प्राचीन शिव शनि हनुमान मन्दिर पहुँच सकते हो!

सड़क मार्ग से कैसे पहुँचें मन्दिर :

नई दिल्ली! कार बाइक अथवा बस से आसानी से आप पहुँच सकते हो! ८/३५, इंडस्ट्रियल एरिया ७/२१ के सामने, कीर्ति नगर नई दिल्ली में स्थित है प्राचीन शिव शनि हनुमान मन्दिर!

श्री शनि देव महाराज की जय हो! जयघोष हो!!

One thought on “प्राचीन शिव शनि हनुमान मन्दिर, कीर्ति नगर, नई दिल्ली भाग: १२९,पँ० ज्ञानेश्वर हँस “देव” की कलम से

  1. गुरु जी आप का बहुत बहुत धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
track image
Loading...