राज्य में पायलट प्रोजैक्ट के तौर पर गांवों में एक हजार हाईटैक पुस्तकालय बनाए जाएंगे : देवेंद्र सिंह बबली

Share News

@ चंडीगढ़ हरियाणा 

हरियाणा के विकास एवं पंचायत मंत्री देवेंद्र सिंह बबली ने कहा कि राज्य में पायलट प्रोजैक्ट के तौर पर गांवों में एक हजार हाईटैक पुस्तकालय बनाए जाएंगे, जिससे ग्रामीण आंचल के युवा वर्तमान परिवेश अनुरूप शिक्षा ग्रहण करके अपना भविष्य उज्ज्वल बना सकेंगे।इसके साथ-साथ युवाओं का खेलों की ओर रूझान बढ़ाने तथा नशे से दूर करने के लिए गांवों में एक हजार जिम भी बनाने की योजना पर कार्य चल रहा है।

उन्होंने यह बात जिला कैथल के गांव खेड़ी रायवाली में आयोजित मधुर मिलन समारोह के दौरान कही। उन्होंने कहा कि गांवों में ग्रे-वॉटर यानि घरों से निकलने वाला पानी तालाबों में जाकर ओवरफ्लो हो रहा है, इस समस्या के निस्तारण हेतू 5 पौंड व्यवस्था के तहत कार्य किया जाएगा, जिससे गांवों को इस समस्या से निजात मिलेगी।विकास एवं पंचायत मंत्री ने कहा कि आमजन की सेवा सेवक बनकर करने का प्रण लिया है, जोकि परिवार से विरासत में मिला है।

प्रदेश के गांवों में दो तिहाई आबादी बसती है, मुख्यमंत्री मनोहर लाल तथा उप-मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला के नेतृत्व में गांवों के सर्वांगीण विकास का खाका तैयार किया गया है, अब गांवों में भी शहरों जैसी सुविधा मुहैया करवाई जाएगी। गांवों में कम्युनिटी सैंटर बनाए जाएंगे, जिसमें सभी मूलभूत सुविधाएं ग्रामीणों को मिलेगी और ये सैंटर मिनी सचिवालय का रूप भी धारण करेंगे। पिछले समय कोरोना के कारण विकास कार्य की गति धीमी पड़ी थी, अब विकास कार्यों को तेज गति देकर पूरे हरियाणा का सर्वांगीण विकास किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि इस वर्ष सरकार द्वारा 3400 तालाबों को दुरूस्त करने का लक्ष्य रखा गया है, जिससे गांवों में ओवरफ्लो की समस्या से पूरी तरह निजात मिलेगी। फाईव पौंड सिस्टम से पानी की समस्या दूर होगी, इसके साथ-साथ जो क्षेत्र बच जाएगा उस पर पेड़-पौधे लगाए जाएंगे, जिससे पर्यावरण भी संरक्षित होगा। आज के समय में हम पानी को बचाएंगे, तभी आने वाली पीढ़ी के लिए कुछ छोड़कर जाएंगे।

विकास एवं पंचायत मंत्री ने कहा ग्रामीण आंचल में आय के स्त्रोत बढ़ाने की दिशा में कार्य करना होगा। पारंपरिक खेती के साथ-साथ हमें बागवानी व पशुधन की ओर भी बढऩा होगा।इस व्यवस्था से निश्चित तौर पर आय में वृद्धि होगी। युवा देश की धरोहर हैं और हमें इन्हें एक नई दिशा देनी है और नशे से बचाना है।उन्होंने सभी से आहवान किया कि जागरूक होकर विकास कार्यों में भागीदार बनें। कोई भी विकास कार्य गांव में शुरू होता है तो उस पर पहले दिन से ही निगरानी रखें, ताकि सारा कार्य गुणवत्ता पूर्वक हो सके। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
track image
Loading...