राष्ट्रीय ध्वज एवं तट रक्षक बल के झंडे के कचरे में मिलने की घटना की जांच शुरू

Share News

@ तिरूवनंतपुरम केरल

नौसेना और तट रक्षक बल ने केरल के एर्णाकुलम जिले के बाहरी इलाके में राष्ट्रीय ध्वज एवं तट रक्षक बल के झंडे के कचरे के साथ मिलने की घटना की बुधवार को जांच शुरू कर दी।

पुलिस इस बाबत पहले ही मामला दर्ज कर चुकी है और उसने मामले की जांच के लिए एक विशेष दस्ते को गठित किया है। नौसेना और तट रक्षक बल ने भी घटना की समानांतर जांच शुरू कर दी है और वे पुलिस की तफ्तीश में भी सहयोग कर रहे हैं।कोच्चि पुलिस के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि सेना के एक पूर्व कर्मी ने घटना की सूचना दी और वे तत्काल मौके पर पहुंचे और राष्ट्रीय ध्वज को उचित सलामी दी तथा एर्णाकुलम में इरूमपनम श्मशान घाट के पास से खुले मैदान से तिरंगे तथा तटरक्षक बल के झंडे को हटा दिया।

अधिकारी ने बताया कि मामले की जांच करने के लिए एक विशेष दस्ते को गठित किया गया है और कोच्चि नौसेना अड्डे और तटरक्षक बल से जानकारी मांगी गई है।रक्षा सूत्रों ने बताया कि शक है कि जिस एजेंसी को नौसेना और तटरक्षक के स्टोर डिपो के बाहर से कबाड़ इकट्ठा करने की जिम्मेदारी दी गई है, वह शायद इस घटना के लिए जिम्मेदार है।सूत्रों ने बताया कि नौसेना एवं तटरक्षक बल इस बात की जांच कर रहे हैं कि राष्ट्रीय ध्वज कबाड़ में कैसे पहुंचा।

उन्होंने यह भी कहा कि माना जाता है कि नौसेना और तटरक्षक बल के कर्मी ऐसी गलती नहीं करेंगे, क्योंकि वह ध्वज संहिता 2002 के मुताबिक, राष्ट्रीय ध्वज से संबंधित प्रोटोकॉल से अच्छी तरह से वाकिफ हैं।राष्ट्रीय गौरव अपमान निवारण कानून के तहत राष्ट्रीय ध्वज का किसी भी तरह से अनादर करना दंडनीय अपराध है और इसके लिए तीन वर्ष तक की सज़ा या जुर्माना या दोनों हो सकते हैं।(भाषा)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
track image
Loading...