राष्ट्रीय खेल में पोल वॉल्ट ने अपने ही राष्ट्रीय रेकॉर्ड को तोड़ते हुए शिव ने स्वर्ण पदक जीता

Share News

@ नई दिल्ली

पोल-वॉल्टर शिव सुब्रमण्यम ने सोमवार को यहां 36वें राष्ट्रीय खेलों में 5.31 मीटर से अधिक छलांग लगाकर चार साल पहले बनाए अपने ही राष्ट्रीय रेकॉर्ड को तोड़ते हुए स्वर्ण पदक जीता। इससे पदक तालिका में सेना की स्थिति और मजबूत हुई। अरुणाचल प्रदेश का प्रतिनिधित्व कर रहे सेना के एक और जवान दूसरे स्टार के रूप में उभरे। सैंबो लापुंग ने पुरुषों के भारोत्तोलन के 96 किग्रा वर्ग में नया राष्ट्रीय रेकॉर्ड बनाया। उन्होंने क्लीन और जर्क में 198 किग्रा भार उठाया।

आईआईटी गांधीनगर में आयोजित स्पर्धा में शिव सुब्रमण्यम ने 1987 में विजय पाल सिंह के 5.10 मीटर के रेकॉर्ड को 5.11 मीटर छलांग लगाकर तोड़ा तो वहां मौजूद दर्शकों ने तालियां बजाकर उनका हौसला बढ़ाया। इसके बाद उन्होंने 5.21 मीटर से अधिक की छलांग लगाई और फिर रेकॉर्ड बनाने के लिए 5.31 मीटर कूदने का प्रयास किया। पहली कोशिश में वह असफल रहे लेकिन आगे इस बाधा को पार करने में सफल रहे।

तैराकी में एसपी लिखित ने भी दो स्वर्ण पदक सेना की झोली में डाले। उन्होंने राजकोट के सरदार पटेल तरणताल परिसर में 200 मीटर ब्रेस्टस्ट्रोक स्पर्धा में स्वर्ण जीतने के बाद 4×100 मीटर मेडले रिले में भी शीर्ष स्थान हासिल किया।

हृतिका श्रीराम (महाराष्ट्र) ने राष्ट्रीय खेलों में इस सत्र का पहला और अपना कुल नौवां स्वर्ण पदक जीता। उन्होंने महिलाओं की तीन मीटर स्प्रिंगबोर्ड डाइविंग प्रतियोगिता में 179.15 अंकों के साथ पीला तमगा हासिल किया। उन्होंने अपने स्वर्ण पदक को कोच-पति और दो साल के बच्चे को समर्पित किया।चक्का फेंक में कृपाल सिंह (पंजाब) ने राष्ट्रीय खेलों में नया रिकॉर्ड कायम किया। उन्होंने 59.32 मीटर की दूरी के साथ शक्ति सिंह (58.56 मीटर) के 25 साल पुराने रिकॉर्ड को तोड़ दिया। इस स्पर्धा में सेना के गगनदीप सिंह और प्रशांत मलिक ने रजत और कांस्य पदक अपने नाम किए।

साबरमती पर सेना की रोइंगटीम को भी ज्यादा मुश्किल नहीं हुई और उन्होंने सभी सात स्वर्ण पदक जीते। उन्होंने अर्जुन लाल जाट और अरविंद सिंह (लाइटवेट डबल स्कल्स), चार लोगों की स्कल्स और आठ लोगों वाली टीमों के माध्यम से आज तीन पदक झटके।महिलाओं की स्पर्धा में मध्य प्रदेश की विंध्या संकेत और रुक्मणि दोनों को आज लाइटवेट डबल स्कल्स और क्वाड्रपल स्कल्स में जीतने के चलते दो बार पोडियम पर जाने का मौका मिला। उनकी टीम की साथी खुशप्रीत कौर ने भी क्वाड्स में अपना दूसरा स्वर्ण पदक जीता। एक दिन पहले उन्होंने सिंगल स्कल्स में पदक जीता था।

निशानेबाजी में पंजाब की सिफ्ट कौर कामरा ने ओडिशा की श्रीयंका सदांगी को हराकर महिलाओं की 50 मीटर राइफल थ्री पोजीशन का ताज हासिल किया। सिफ्ट ने 6-0 की बढ़त ली। लेकिन श्रीयंका ने अच्छी वापसी करते हुए 16 अंकों की स्पर्धा को 15-15 पर ला दिया। 16वीं सीरीज में दोनों ने 9.8 का निचला स्तर हासिल किया और ऐसे में श्रीयंका के 9.8 के मुकाबले सिफ्ट ने 10.1 के साथ स्वर्ण पर कब्जा जमाया।

भावनगर में खेले गए फाइनल मुकाबले में उत्तर प्रदेश के पुरुष खिलाड़ियों ने तमिलनाडु को 21-18 और तेलंगाना की महिला खिलाड़ियों ने केरल को 17-13 से हराकर 3×3 बास्केटबॉल स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता।तेलंगाना की खुशी उस समय दोगुनी हो गई जब उनकी बैडमिंटन स्टार्स ने सूरत में केरल के खिलाफ 3-0 से जीत दर्ज करते हुए मिक्स्ड टीम का स्वर्ण पदक जीता।

उधर, महिला हॉकी में हरियाणा की कप्तान रानी रामपाल ने राजकोट के मेजर ध्यानचंद स्टेडियम में ग्रुप-ए मैच में अपनी दूसरी जीत के लिए ओडिशा पर 4-0 की जीत की हैटट्रिक बनाई। वे अंतिम चार में जगह मिलने को लेकर आश्वस्त हैं। उत्तर प्रदेश ने शुरूआती हार के बाद वापसी करते हुए मेजबान गुजरात पर 6-0 से जीत दर्ज की।ग्रुप बी में कर्नाटक ने पिछड़ने के बाद वापसी करते हुए झारखंड से 3-3 की बराबरी की, जबकि पंजाब ने मध्य प्रदेश को हराकर दूसरी जीत हासिल की।पुरुषों के पूल ए मैच में, हरियाणा ने पश्चिम बंगाल को 7-0 से हराया और अभिषेक ने हैटट्रिक बनाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
track image
Loading...