श्री साईँ बाबा मन्दिर लोधी रोड़, नई दिल्ली भाग : १२०, पं० ज्ञानेश्वर हँस “देव” की कलम से

Share News

भारत के धार्मिक स्थल: श्री साईँ बाबा मन्दिर लोधी रोड़, नई दिल्ली भाग: १२०

आपने पिछले भाग में पढ़ा : भारत के प्रसिद्ध धार्मिकस्थल: गणेश मन्दिर कनॉट प्लेस, नई दिल्ली! यदि आपसे यह लेख छूट गया हो और आपमें पढ़ने की जिज्ञासा हो तो आप प्रजा टुडे की वेबसाइट धर्म-सहित्य पृष्ठ पर जा कर पढ़ सकते हैं! आज हम आपको बता रहे हैं:

भारत के धार्मिक स्थल: श्री साईँ बाबा मन्दिर लोधी रोड़, नई दिल्ली भाग: १२०

आस्था और विश्वास का प्रतीक बाबा की सरल भाषा में श्रद्धा सबूरी सँग भक्त गण मनवान्छित फल पाते हैं! साईँ बाबा की मनमोहक प्रतिमा अति दर्शनीय एवँ सुखसमृद्धि कारक है! प्रत्येक साईँ वार को यहाँ साईँ भजन का सँकीर्तन होता रहता है!

साईं मेमोरियल मन्दिर – ३, लोधी रोड़, इंस्टिट्यूशनल एरिया, लोधी कॉलोनी, नई दिल्ली – ११०००३ साईं मेमोरियल, श्री साईं बाबा मन्दिर की स्थापना ३० सितम्बर १९७६
दर्शन समय ५:००प्रातः से दोपहर १२:०० बजे, सन्ध्या: ४:०० बजे से रात्रि के ९:३० बजे!

साईँ आरती की समयसारणी:
५:३० प्रातः काकड़ आरती
६:०० प्रातः मङ्गल स्नान
८:०० प्रातः आरती
१२:०० दोपहर आरती
6:३० सायँ धूप आरती
७:०० सायँ धूप आरती गुरुवार को
९:३० रात्रि शेज आरती

त्यौहार:

राम नवमी, गुरुपूर्णिमा, श्री साईँ बाबा पूण्य तिथि

संस्थापक : श्री साईं भक्त समाज
स्थापना : अगस्त १९७२,
प्राण प्रतिष्ठा : अक्तूबर १९६८
मन्दिर के अँदर तस्वीर लेना अ-नैतिक है! जबकि कोई पूजा करने में व्यस्त है! कृपया मंदिर के नियमों और सुझावों का भी पालन करें!

यद्यपि आप बाहर सड़क से ही बाबा जी का चित्र ले सकते हैं!

साईँ बाबा के ११ वचनों में छिपा हर-समस्या का समाधान :

साईं बाबा के इन ग्यारह वचनों में छिपा है हर समस्या का समाधान! साईं बाबा की पूजा का कोई नियम नहीं है लेकिन उनके ये वचन उनके भक्तों के लिए अनमोल हैं! कहते हैं कि इन ग्यारह वचनों में जीवन की हर समस्या का समाधान छुपा है! तो आइए जानें कौन से हैं

साईं बाबा के ये ग्यारह वचन :

जो शिरडी में आएगा, आपद दूर भगाएगा – साईं बाबा की नगरी है शिरडी! ऐसी मान्यता है कि शिरडी में जाकर हर परेशानी से छुटकारा मिलता है!

चढ़े समाधि की सीढ़ी पर, पैर तले दुख की पीढ़ी पर – साईं बाबा की समाधि की सीढ़ी यानी साईं मन्दिर में बाबा के दर्शन कर सभी मुरादें पूरी होती हैं!

त्याग शरीर चला जाऊंगा, भक्त हेतु दौड़ा आऊंगा साईं बाबा भक्तों के लिए हमेशा समर्पित रहते हैं! इस वचन में वो कहते हैं कि अगर मेरा भक्त मुसीबत में होगा तो मैं भले ही शरीर में न रहूं, लेकिन भक्त की मदद के लिए दौड़ा-दौड़ा चला जाउंगा!

मन में रखना दृढ़ विश्वास, करे समाधि पूरी आस साईं बाबा ने जीवन में श्रद्धा का बड़ा महत्व बताया है! साईं बाबा कहते हैं कि भक्तों को मन में पूरा विश्वास रखना चाहिए समाधि पर आने पर उनकी हर मुराद पूरी होगी!

मुझे सदा जीवित ही जानो, अनुभव करो सत्य पहचानो
इस वचन में साईं बाबा कहते हैं कि मुझे हमेशा जीवित ही समझना!

मेरी शरण आ खाली जाए, हो तो कोई मुझे बताए
साईं बाबा कहते हैं जो भी मेरी शरण में आया है उसकी मैं हर मनोकामना पूरी करता हूं!

जैसा भाव रहा जिस जन का, वैसा रूप हुआ मेरे मन का
साईं बाबा कहते हैं कि जिस इंसान का जैसा भाव होता है उसे मैं वैसा ही दिखता हूं!

भार तुम्हारा मुझ पर होगा, वचन न मेरा झूठा होगा
इस वचन में साईं बाबा कहते हैं कि अगर भक्त श्रद्धा भक्ति से मेरे पास आएंगे तो उनकी मदद मैं जरूर करूंगा!

आ सहायता लो भरपूर, जो मांगा वो नहीं है दूर
जो भक्त श्रद्धा भाव से मुझसे मदद की उम्मीद करेगा मैं उसकी मनचाही मुराद जरूर पूरी करूंगा!

मुझमें लीन वचन मन काया, उसका ऋण न कभी चुकाया
जो भक्त तन, मन, वचन से मुझ में लीन रहता है, उस भक्त के लिए मैं हमेशा ऋणी रहता हूं!

धन्य व भक्त अनन्य, मेरी शरण तज जिसे न अन्य साईं बाबा कहते हैं कि मेरे वो भक्त धन्य हैं जो अनन्य भाव से भक्ति में लीन हैं!

हवाई मार्ग से कैसे पहुँचें साईँ मन्दिर:

इन्दिरा गाँधी अन्तरराष्ट्रीय हवाईअड्डे से मात्र २५ किलोमीटर की दूरी पर स्थित है साईँ मन्दिर!

रेल मार्ग से कैसे पहुँचें साईँ मन्दिर:

मैट्रो रेल से आप पहुँच सकते हैं!

सड़क मार्ग से कैसे पहुँचें साईँ मन्दिर:

पता:- ३, लोधी रोड़, इंस्टीट्यूशनल एरिया, लोधी कॉलोनी, नई दिल्ली – ११०००३

साईँ बाबा की जय हो! जयघोष हो!!

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
track image
Loading...