श्री साईँ धाम मन्दिर, चण्डीगढ़ भाग: २५९,पँ० ज्ञानेश्वर हँस “देव” की क़लम से

Share News

भारत के धार्मिक स्थल: श्री साईँ धाम मन्दिर, चण्डीगढ़ भाग: २५९

आपने पिछले भाग में पढ़ा होगा श्री गणेश मन्दिर अजमेरी गेट, नई दिल्ली! यदि आपसे उक्त लेख छूट अथवा रह गया हो तो आप प्रजा टुडे की वेबसाईट http://www.prajatoday.com पर जाकर धर्म साहित्य पृष्ठ पर जाकर पढ़ सकते हैं! आज हम आपके लिए लाएँ हैं।

भारत के धार्मिक स्थल: श्री साईँ धाम मन्दिर, चण्डीगढ़ भाग: २५९

सुन्दर शिरडी साईं बाबा मन्दिर के लिए, भूमि वर्ष १९८९ में आवंटित की गई थी! मन्दिर के सँस्थापक स्वर्गीय श्री आई पी मेहता जी ने भूमि अधिग्रहण में अति महत्वपूर्ण योगदान दिया! उन्होंने अपने सहयोगियों के साथ शिरडी साईं बाबा की पवित्र मूर्ति प्राप्त करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, जिसकी वर्तमान में मन्दिर में पूजा अर्चना की जाती है! मूर्ति मूल रूप से जयपुर से लाई गई थी! इसके बाद इसे पूजा के लिए शिरडी ले जाया गया और अन्त में चण्डीगढ़ लाया गया! स्वरूप स्थापना समारोह एवँ प्राणप्रतिष्ठा ६ दिसंबर १९९५ को भव्य समारोह आयोजित किया गया था!

उत्तर भारत में सद्गुरु साईं बाबा का यह उत्कृष्ट हिन्दू मन्दिर है! जिसे भक्तजनों ने छोटी शिरडी, साईं धाम नाम दिया है, जो चण्डीगढ़ सेक्टर २९ में स्थित है, यह अपने चमत्कारों के लिए भी प्रसिद्ध है!

श्री साईं बाबा की मन्दिर समिति निस्वार्थ भाव से काम कर रही है और यहाँ हर काम पूरी निष्ठा से किया जाता है! इस छोटी शिरड़ी धाम मन्दिर के बारे में आरती साईं मन्दिर, सेक्टर २९ चण्डीगढ़ पहली बार मन्दिर में होने वाली दैनिक आरती के साथ लाइव होने वाली है!

प्रत्येक साईँवार यानी गुरुवार को यहाँ लँगर सेवा का आयोजन ज़रूरतमंदों एवँ आए हुए सभी भक्तजनों को भोजन और भक्तों को प्रसाद देना साईं मन्दिर का एक अभिन्न अँग है!

शिरड़ी साईँ धाम की हाल की घटनाएं :

आज शाम, अगले दिन या अगले सप्ताह साईं मंदिर में क्या हो रहा है, इसकी जानकारी समिति आपको देती रहती हैं! श्री साई बाबा सँस्थान ट्रस्ट, शिरडी, श्री साईबाबा समाधि मन्दिर से दिन- प्रतिदिन की गतिविधियों को नियंत्रित और प्रबंधित करने के लिए अधिकृत निकाय है!

सेक्टर २९ चंडीगढ़ में लोकप्रिय साईं मन्दिर आजकल गतिविधि और चमचमाती रोशनी से गुलज़ार है क्योंकि साईँ ऋषि की सौवीं वर्षगांठ है, शाम की आरती में बड़ी सँख्या में श्रद्धालु शामिल होते नज़र आते हैं! साईं मन्दिर, सेक्टर २९ चण्डीगढ़ सबसे पहले मन्दिर में होने वाली दैनिक आरती के साथ शुरू होता है! भक्त अब शहर से दूर या कार्यालय में देर से रुकने के दौरान चलते-फिरते भी अपनी आस्था के संपर्क में रहेंगे! मन्दिर, जो आमतौर पर सदियों पुरानी परँपराओं से पहचाने जाते हैं, आधुनिक तकनीकों को अपने पवित्र व्यंजनों में मिला रहे हैं! डिजिटल इण्डिया ने मन्दिरों में अपना रास्ता खोज लिया है, साईं मन्दिर आगे बढ़ रहा है, अन्य लोग व ट्रस्ट जल्द ही इसका अनुसरण करते हैं! बेहतर नम्बरों से उतीर्ण होने पर! औलाद का विवाह होने पर! असाध्य बीमार रोगी ठीक होने पर! बेहतर नौकरी पाने पर! अच्छा करोबार होने पर! फ़सल अच्छी होने पर! तो श्रद्धालु गण साईँ धाम में लँगर करते हैं! साईँ की महिमा अपरम्पार!

साईं बाबा स्तुति :

जो शिरडी में आएगा, आपद दूर भगाएगा!
चढ़े समाधि की सीढ़ी पर, पैर तले दुख की पीढ़ी पर!
त्याग शरीर चला जाऊंगा, भक्त हेतु दौड़ा आऊंगा!
मन में रखना दृढ़ विश्वास, करे समाधि पूरी आस!
मेरी शरण आ खाली जाए, हो तो कोई मुझे बताए!
जैसा भाव रहा जिस जन का, वैसा रूप हुआ मेरे मन का!
भार तुम्हारा मुझ पर होगा, वचन न मेरा झूठा होगा!
आ सहायता लो भरपूर, जो मांगा वो नहीं है दूर!
मुझमें लीन वचन मन काया , उसका ऋण न कभी चुकाया!
धन्य धन्य व भक्त अनन्य , मेरी शरण तज जिसे न अन्य!

साईं बाबा की इस स्तुति के पाठ से तत्काल दिखाई देते हैं चमत्कार :
हर इच्छा हो जाती पूरी साईं स्तुति के पाठ से पहले करें यह उपाय!

जो साईं भक्त साईं बाबा कृपा पाना और उनके दर्शन करना चाहते हैं, तो गुरुवार के दिन किसी भी साई मंदिर में जाकर या फिर अपने घर के ही पूजा स्थल पर एक पीले कागज पर लाल रंग के पेन से साईं बाबा की इस स्तुति को लिखें! लिखने के बाद उस कागज को कुछ देर के लिए साई बाबा के चरणों में रख दें! अब हाथ जोड़कर उपरोक्त स्तुति का श्रद्धा और सबुरी के भाव से पाठ करें! हर इच्छा हो जाती पूरी,स्तुति का पाठ पूरा होने के बाद अब उस स्तुति लिखे पीले कागज़ को अपने साथ घर ले आयें एवँ उसे अपने पूजा स्थल, शयन कक्ष या फिर अपने कार्य स्थल पर लगा दें! साईं भक्ति के जानकार कहते हैं कि ये उपाय इतना शक्तिशाली है कि इसके तुरंत ही चमत्कार दिखाई देने लगते हैं! प्रसन्न होकर भगवान साईं नाथ आपकी हर एक मनोकामना को पूर्ण कर देते हैं!

हवाई मार्ग से कैसे पहुँचें मन्दिर :

बाय-एयर, निकटतम हवाई अड्डा ,चण्डीगढ़ का हवाईअड्डा है! पालम दिल्ली का इन्दिरगाँधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा भी है! यहाँ से श्री साई धाम मन्दिर जाने के लिए बस अथवा कैब द्वारा आसानी से पहुँचा जा सकता है! दिल्ली से साईँ धाम चण्डीगढ़ पहुँचने के लिए साढ़ेपाँच घँटे लगेंगे! चण्डीगढ़ अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे से सड़क मार्ग से सेक्टर २९ चण्डीगढ़ तक पहुँचने में लगभग २० मिनट्स का समय लगता है!

लोहपथगामिनी मार्ग से कैसे पहुँचें :

चण्डीगढ़ सेक्टर २९ से रेलवे स्टेशन चंडीगढ़ तक की यात्रा में ३ मिनट का समय लगता है! चण्डीगढ़ सेक्टर २९ और रेलवे स्टेशन चंडीगढ़ के बीच अनुमानित ड्राइविंग दूरी ३ किलोमीटर है!

सड़क मार्ग से कैसे पहुँचें मन्दिर :

दिल्ली से अपनी कार अथवा बस द्वारा श्री साईँ धाम के मन्दिर राष्ट्रीय राजमार्ग NH:४४ द्वारा से २५५.१ यात्रा करके ५ घण्टे ३७ मिनट्स में पहुँचोगे चण्डीगढ़ के साईँ धाम मन्दिर!

अनँत कोटि ब्रह्मांड नायक राजाधिराज योगीराज परब्रह्म,

श्री सच्चिदानंद सद्गुरु साइँ नाथ महाराज की जय हो! जयघोष हो!!

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
track image
Loading...