श्री साईँ मन्दिर सेक्टर २२ द्वारका, दिल्ली भाग: २४५,पँ० ज्ञानेश्वर हँस “देव” की क़लम से

Share News

भारत के धार्मिक स्थल : श्री साईँ मन्दिर, सेक्टर २२ द्वारका, दिल्ली भाग: २४५

आपने पिछले भाग में पढ़ा होगा श्री सिद्धि गणेश मन्दिर, बी बी डी केम्पस, लखनऊ, उत्तर प्रदेश! यदि आपसे उक्त लेख छूट अथवा रह गया हो तो आप प्रजा टुडे की वेबसाईट http://www.prajatoday.com पर जाकर धर्म साहित्य पृष्ठ पर जाकर पढ़ सकते हैं! आज हम आपके लिए लाएं हैं।

भारत के धार्मिक स्थल : श्री साईँ मन्दिर, सेक्टर २२ द्वारका, दिल्ली भाग: २४५

द्वारका सेक्टर २२ में स्थित श्री साईं बाबा मन्दिर भूतल पर ही है! बहुत शाँतिपूर्ण! साईं बाबा जी की अति सुन्दर प्रतिमा, फूलों की दो दुकानें हैं और पूजारी पण्डित जी कभी भी रोक टोक नहीं करते हैं! भक्त अपनी इच्छानुसार पूजा और अर्पण प्रसाद कर सकते हैं! इसलिए इस स्थान पर आकर श्रद्धालुगण धन्य महसूस करते हैं! वर्षों से इस जगह का दौरा कर रहे श्रद्धालुओं जा मानना है और यह कई मायनों में बहुत अच्छी तरह से व्यवस्थित है! अगर आप शाँति और सँतुष्टि चाहते हैं तो इस स्थान पर आ कर आपको अच्छा लगेगा!

द्वारका में यह अच्छा मन्दिर अच्छी तरह से बना हुआ है, स्वच्छ पार्किंग! यहाँ केवल मुद्दा है क्योंकि यह स्कूल सीएनजी पम्प स्टेशन और आस-पास की सोसायटी से सटा हुआ है! आस-पास कोई मिठाई की दुकान नहीं है, इसलिए मिठाई का प्रसाद साथ रखें! मन्दिर के बाहर छोटी सी दुकान में आपको पूजा का सभी सामान मिल सकता है! अच्छी कार पार्किंग के साथ सुन्दर मनभावन साईँ मन्दिर! जो जन यहाँ गया, यहाँ आ गया, बस उसे साईँ के श्री चरणोँ में आकर बहुत अच्छा लगेगा, ऐसा मेरा मानना है!

जय साईं बाबा, यह नाम ही आपको शाँति और शक्ति देता है! मन्दिर बहुत अच्छे स्थान पर स्थित है लेकिन अच्छी तरह से रखा और उपयोग नहीं किया गया! पहला अनुभव यहाँ की लोकेशन देख अच्छा नहीं लगा, १२:३० बजे श्रद्धालु भक्त फर्श की सफाई कर रहे थे! प्रसाद देने के लिए कोई भी नहीं था! वहाँ बैठे पुजारी सोने की मुद्रा में थे! वो भी क्या करें प्रातः ४ बजे उठ जाते हैं! नि:शुल्क पार्किंग और प्रसाद की फूलों की यहाँ २ दुकानें बाहर उपलब्ध हैं! आटा, चीनी, घी आदि के रूप में प्रसाद स्वीकार करते हैं, जिस राशन का भण्डारा लगता है, लेकिन भण्डारा आयोजित करने के लिए कोई विशिष्ट या नियमित समय नहीं है!

सबका मालिक एक! मालिक की प्रतिक्रिया सबको एक दृष्टि से देखती है और अहंकार-रहित है! भण्डारा खाने के लिए नहीं देख रहे, लेकिन जो वास्तव में योगदान देना चाहते हैं, साथ ही अगर पुजारी वहाँ कर्तव्य नहीं पूरा कर रहे हैं तो यह सूचना देना साईँ को हमारा अधिकार है! यह आपकी सोच पर, दया पर है, साईं बाबा से आप सबको श्रद्धा सबुरी देने के लिए प्रार्थना करेंगे! यह एक पवित्र स्थान है, हमेशा यहाँ एक बहुत अच्छा हवा प्राप्त होती है! मन्दिर बहुत साफ सुथरा है, बिना किसी भीड़ के! जय साईं बाबा शाँतिपूर्ण और खुशहाल जगह! साईं बाबा की मूर्ति साईं बाबा की सुन्दर मूर्ति के साथ शिरडी साईं बाबा शाँतिपूर्ण मन्दिर की प्रतिकृति है! गुरुवार को साईं बाबा की कहानी पढ़ने वाले व्यक्ति की भावपूर्ण मधुर आवाज़ भाव विभोर कर अन्दर रूह तक झिंझोड़ कर रख देती है! आसपास के भिखारियों से सावधान रहें, सुझाव है कि कुछ भी न दें क्योंकि वे आक्रामक हो जाते हैं! साईँ बाबा की मूर्ति ऐसा लगता ह अभी बोल उट्ठेगी! आप तमाम आन्तरिक सुख शान्ति का अनुभव करोगे यहाँ आकर!

हमारा देश भारत सदियों से विश्व गुरु कहा जाता है यहाँ की धरती पर अनेक महान संतो ने समय समय पर जन्म लिया और जीवन जीने का उपदेश दिया! सत्य की राह पर चलते हुए लोगो की भलाई करते हुए अमरत्व का मार्ग प्राप्त किया जा सकता है इसी कड़ी में हमारे देश की धरती पर महान संत शिरडी के साई बाबा!
शिरडी के साई बाबा ने भी जन्म लिया था और फिर अपने सत्कर्मो से लोगो को सच्ची जीवन जीने और मानवता का संदेश दिया था!

जिसके कारण शिरडी के साईं बाबा को लोग भगवान भी मानते है और उन्हें भगवान के रूप में भी पूजा जाता है साई बाबा ने धर्म से परे लोगो को ऊपर उठकर जीवन जीने का उपदेश दिया था और उनका मानना था की ईश्वर अल्लाह सभी एक है जिसे अक्सर वे कहा भी करते थे –

“सबका मालिक एक”

साईँ के ५० अनमोल विचार
साई बाबा Quotes :-1
मै तो निराकार भी हु और हर जगह भी हूँ!
साई बाबा Quotes :-2
जब मेरा भक्त गिरने वाला होने की स्थिति में होता है तो मै सबसे पहले हाथ बढ़ाकर सहारा देने वाला हूँ!
साई बाबा Quotes :-3
मै अपनों भक्तो का दास हूँ!
साई बाबा Quotes :-4
जो लोग वासना के अधीन होते है उनके लिए मुक्ति का मार्ग असम्भव है!
साई बाबा Quotes :-5
मेरे लिए सभी एक समान है
साई बाबा Quotes :-6
मेरा कार्य लोगो को आशीष और आशीर्वाद देना है!
साई बाबा Quotes :-7
हमेशा मेरी शरण रहो मै सभी परिस्थितिया संभाल लूँगा!
साई बाबा Quotes :-8
जो मुझे चाहते है उनपर मेरी सदा कृपा बनी रहती है!
साई बाबा Quotes :-9
लोगो के प्रति अच्छा बर्ताव करना यही पर्याप्त है!
साई बाबा Quotes :-10
मै अपने भक्तो का कभी भी अहित नही होने देता हूँ!
साई बाबा Quotes :-11
माता पिता की सेवा मेरी सेवा करने के बराबर है!
साई बाबा Quotes :-12
प्रेम की तरफ मनुष्य खीचा चला जाता है!
साई बाबा Quotes :-13
एकबार जो शब्द बोल दिए जाते है वे कभी वापस नही हो सकते इसलिए हमेसा सोच समझकर ही बोलें!
साई बाबा Quotes :-14
श्रद्धा एवँ सब्र से काम कना! ईश्वर ज़रुर भला करेगा!
साई बाबा Quotes :-15
जो मेरी शरण में चला आता है फिर उनके लिए भय का कोई स्थान नही होता है!
साई बाबा Quotes :-16
भूखे को भोजन, प्यासे को जल और नंगे को वस्त्र देने से ईश्वर भी प्रसन्न होते हैं!
साई बाबा Quotes :-17
जिस तरह कपड़े को नष्ट कर देते है ठीक उसी तरह इर्ष्या मनुष्य को समाप्त कर देती है!
साई बाबा Quotes :-18
हमेशा देना सीखना चाहिए सेवा करना सबसे बड़ा धर्म है! सबसे बड़ा मज़हब है!
साई बाबा Quotes :-19
तुम जो भी करते हो या जहाँ भी कहीँ रहते हो इस बात का ध्यान रखना चाहिए, मुझे इस बात का हमेशा ध्यान रहता है की तुम क्या कर रहे हो!
साई बाबा Quotes :-20
जो लोग मेरे शरण में होते है उनका दिन रात मै नाम लेता हु और उनके बारे में हमेशा सोचता हूँ!
साई बाबा Quotes :-21
मै निर्गुण हु निरपेक्ष भी हु मेरा कोई नाम भी नही है
मेरा कोई आवास भी नही है परन्तु ज्ञात रहे मै सर्वत्र हूँ!
साई बाबा Quotes :-22
यदि आप मेरी सहायता चाहते है मै इसे तुरंत देना चाहूँगा, इसके लिए आपको मेरी शरण में आना होगा!
साई बाबा Quotes :-23
जिस प्रकार ठोस नींव से ही मज़बूत इमारत खड़ी होती है ठीक उसी प्रकार मनुष्य का आचरण मज़बूत होनी चाहिए तभी वह टिका रह सकता है!
साई बाबा Quotes :-24
मै अपने भक्तो से कभी नाराज़ नही होता क्या आपने कभी देखा है, माँ अपने बच्चो से नाराज होती है? क्या समुद्र कभी वापस पानी नदियों को भेजता है? नहीँ!
साई बाबा Quotes :-25
अगर आपके अंदर विश्वास और धैर्य है तो आप कही भी रहेगे मै आपके सदा साथ रहूँगा!


साई बाबा Quotes :-26
जहा मै हूँ, वहाँ कोई डर नही!
साई बाबा Quotes :-27
अगर आप धनवान है तो आप दयालु बने, क्योकि अगर फल लगे वृक्ष झुके रहते है, तभी अच्छे लगते हैं!
साई बाबा Quotes :-28
जो कुछ भी आप देखते है उन सभी में मै ही व्याप्त हूँ!
साई बाबा Quotes :-29
मै तुम्हे अंत तक भवसागर तक ले जाऊँगा!
साई बाबा Quotes :-30
मेरे भक्ति में जो भी लीन रहते है वे सचमुच धन्य है!
साई बाबा Quotes :-31
जो मेरी शरण में होता है उनका मै सदा ऋणी रहता हूँ! उनके जीवन की सारी जिम्मेदारी मेरी है!
साई बाबा Quotes :-32
जो सच्चे मन से मेरी शरण में आता है उनका जीवन भर मै स्वय भार खुद उठाता हूँ!
साई बाबा Quotes :-33
जब विश्वास कमजोर पड़ने लगे मन में मुझपर विश्वास करते हुए मेरे समाधी पर आ जाना!
साई बाबा Quotes :-34
भले ही मै रहू या ना रहू लेकिन जब भी मेरा भक्त पुकारेगा मै उसी रफ़्तार से दौड़ा चला आऊँगा!
साई बाबा Quotes :-35
ईश्वर की सेवा ही सच्ची सेवा है!
साई बाबा Quotes :-36
जो मेरे बताये हुए रास्ते पर चलेगा वह ईश्वर की शरण में चला जायेगा!
साई बाबा Quotes :-37
पूरी तरह ईश्वर की भक्ति में लीन हो जाईये एक दिन ईश्वर आपको अवश्य दर्शन देंगे!
साई बाबा Quotes :-38
मै न हिलता हूँ और न ही डगमगाता हूँ!
साई बाबा Quotes :-39
अगर आप अपने घर में मिलजुलकर प्यार से रहते है तो आपका घर स्वर्ग के समान होता है!
साई बाबा Quotes :-40
जो लोग दुसरे से प्रेम करते है सदभाव रखते है वे लोग सचमुच महान होते है!
साई बाबा Quotes :-41
क्रोध से मनुष्य की बुद्धि खत्म हो जाती है और फिर यह पछतावे के साथ खत्म होता है!
साई बाबा Quotes :-42
चिंता करने से बल और बुद्धि का नाश होता है!
साई बाबा Quotes :-43
बिना परमात्मा की आज्ञा के बिना मै कुछ भी नही करता!
साई बाबा Quotes :-44
मनुष्य ईश्वर के बनाये हुए रचना है इसलिए मनुष्य की सेवा ईश्वर की सेवा है!
साई बाबा Quotes :-45
मनुष्य की पहचान उसके कपड़ो से नही बल्कि उसके आचरण से होती है!
साई बाबा Quotes :-46
अँधा सिर्फ वही नही है जिसकी आँखे नही है सचमुच अँधा तो वह है जो अपने दोषों को छिपाता है!
साई बाबा Quotes :-47
जिसका जैसा भाव होता है, उसका वैसा मन भी होता है!
साई बाबा Quotes :-48
तुम मेरे लिए एक पग चलोगे मै तुम्हारे सौ पग चलूँगा!
साई बाबा Quotes :-49
सभी से प्रेम करना ही ईश्वर की सच्ची सेवा है!
साई बाबा Quotes :-50
हमेशा दुसरो की सहायता करो और कभी भी किसी को दुःख मत देना!

हवाई मार्ग से कैसे पहुँचें मन्दिर :

भारतवर्ष के इन्दिरगाँधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे से आप कैब द्वारा तीस मिन्ट्स में श्री साईँ मन्दिर सेक्टर २२, द्वारका, नई दिल्ली पहुँच जाओगे!

रेल मार्ग से कैसे पहुँचें मन्दिर :

मेट्रो ट्रेन द्वारा आप सेक्टर २२ द्वारका उतर कर पैदल ही जा ढकते हैं श्री साईँ मन्दिर सेक्टर २२, द्वारका, नई दिल्ली!

सड़क मार्ग से कैसे पहुँचें मन्दिर :

अंतर्देशीय बस स्थानक यानी ISBT से आप तक़रीबन एक घण्टे में राष्ट्रीय राजमार्ग NH:४८ द्वारा ३२.१ किलोमीटर की यात्रा तय करके बस अथवा स्वयँ की कार द्वारा पहुँच जाओगे श्री साईँ मन्दिर सेक्टर २२, द्वारका, नई दिल्ली!

अनन्त कोटि ब्रह्मांड नायक राजधिराज योगीराज परब्रह्म, सच्चिदानन्द सद्गुरु साईँ नाथ महाराज की जय! श्री शिरड़ी वाले साईं बाबा की जय!

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
track image
Loading...