सरकारी ई-मार्केट प्लेस के साथ पंजीकरण करने के बाद से व्यवसाय की मात्रा में वृद्धि हुई है : GEM

Share News

@ नई दिल्ली

2017 में सरकारी ई-मार्केट प्लेस के साथ पंजीकरण करने के बाद से मेरे व्यवसाय की मात्रा में वृद्धि हो गई है। इससे पहले मैं केवल किला क्षेत्र में मेरी दुकान के दायरे में और सिर्फ मुंबई के भीतर मदों की आपूर्ति कर सकता था। अब मैं अपने उत्पादों को देश भर में भेज सकता हूं। मैंने इंडिया पोस्ट और तीन निजी कूरियर सेवा प्रदाताओं के साथ करार किया है जो मेरी दुकान से सामान उठाते हैं और नियत समय पर उनकी प्रदायगी करते है। यह कहना है GeM के साथ पंजीकृत एक फर्म मिलन स्टेशनर्स एंड प्रिंटर्स के मालिक हितेश शाह का।

एक अग्नि सुरक्षा उपकरण प्रदाता कंपनी जोसेफ लेजली डायनैमिक्स मैन्यूफैक्चरिंग प्रा. लिमिटेड के प्रबंधक उमेश नाय कहते हैं कि उन्हें GeM के माध्यम से अभी तक कुल 30 करोड़ रुपये का ऑर्डर प्राप्त हो चुका है। उन्होंने कहा GeM ने व्यवसाय करने की लागत में अत्यधिक कमी ला दी है विशेष रूप से संभावित खरीदारों से मिलने के लिए की जाने वाली यात्रा की आवश्यकता को कम करने के मामले में। हमारी एक एमएसएमई कंपनी है और इसलिए हमें एमएसएमई वेंडरों को दिए जाने वाले लाभ प्राप्त होते हैं जैसाकि पोर्टल द्वारा उपलब्ध कराया जाता है। GeM एक बहुत ही अच्छा प्लेटफॉर्म है जो हमारी जैसे छोटी कंपनी के लिए बहुत लाभदायक है।

केतन चौधरी जो एमएसएमई फर्म ओंकार इंटरप्राइज का प्रतिनिधित्व करते हैं ने कहा कि GeM ने उनके व्यवसाय को बढ़ने में मदद की है। उन्होंने वर्ष 2020 में GeM के साथ पंजीकरण कराया और प्रिंटर तथा टोनर की बिक्री करनी आरंभ कर दी। अब वह कंप्यूटर और लैपटौप भी बेच रहे हैं। उन्होंने टिप्पणी की GeM हमारे जैसे छोटे व्यवसायों को बढ़ने में सहायता करता है।

कई सरकारी ई-मार्केटप्लेस वेंडरों ने आज मुंबई में आयोजित GeM विक्रेता संवाद में अपने अनुभवों को साझा किया। इसने GeM विक्रेताओं को GeM के नए फीचरों तथा कार्यों के बारे में सीखने का अवसर दिया जिसने उनके लिए इसका पोर्टल पर प्रचालन करना और अधिक अनुकूल बन गया। महाराष्ट्र तथा दमन एवं दीव के लिए GeM व्यवसाय सुगमकर्ता निखिल पाटिल ने सूचना दी कि GeM पोर्टल केवल केंद्र सरकार के कार्यालयों तक ही सीमित नहीं है। यह केंद्रीय/राज्य मंत्रालयों विभागों निकायों तथा पीएसयू सहित सभी सरकारी खरीदारों के लिए एक वन-स्टॉप ऑनलाइन खरीद पोर्टल उपलब्ध कराता है। सभी राज्यों (सिक्किम को छोड़कर) ने GeM के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं और इसके जरिये देश भर के व्यवसायों को पूरे भारत यहां तक कि सुदूर क्षेत्रों में स्थित सरकारी विभागों के साथ व्यवसाय करने की सुविधा प्राप्त होती है। निखिल पाटिल ने बताया कि महाराष्ट्र राज्य ने मार्च 2018 में GeM के साथ समझौता किया है।

अपनी प्रस्तुति में पाटिल ने GeM पोर्टल में व्यवसाय करने पर एसएमई को होने वाले लाभों को रेखांकित किया। एमएसई विशेष रूप से GeM पर एकमात्र प्रोप्रराइटर अब GeM प्लेटफॉर्म पर ऑर्डर की स्वीकृति के बिन्दु पर ऋण प्राप्त कर सकते हैं। व्यवसाय करने की सुगमता को बढ़ाने के लिए पिछले 24 महीनों में लगभग 2000 गौण तथा 460 से अधिक प्रमुख कार्यात्मकताओं को GeM पर प्रस्तुत किया गया है। विक्रेता संवाद में निशांत दीनगावल राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों के निदेशक तथा महाराष्ट्र में GeM के नोडल अधिकारी ने भी भाग लिया। पत्र सूचना कार्यालय के मुंबई क्षेत्रीय कार्यालय के उप-निदेशक दीप जॉय मम्पिली भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

  सरकारी ई मार्केटप्लेस  (GeM) के बारे में :

देश का राष्ट्रीय सार्वजनिक खरीद पोर्टल सरकारी ई-मार्केटप्लेस (GeM) वस्तुओं एवं सेवाओं की एक समग्र ऑनलाइन मार्केटप्लेस है। इसे माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सार्वजनिक खरीद को पुनर्भाषित करने के विजन के एक हिस्से के रूप में 9 अगस्त 2016 को लांच किया गया। GeM सरकारी खरीदारों तथा सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों द्वारा खरीद के तरीकों में क्रांतिकारी बदलाव लाने में सक्षम रहा है। GeM एक संपर्करहित कागजरहित तथा नकदीरहित व्यवस्था है तथा तीन स्तंभों : प्रभावशीलता पारदर्शिता तथा समावेशन पर खड़ा है।

उल्लेखनीय है कि GeM ने वित्त वर्ष 2021-22 के एक ही एकल वित्त वर्ष में एक लाख करोड़ रुपये की खरीद की अनुपम उपलब्धि हासिल कर ली है। अपनी शुरुआत से लेकर अब तक GeM ने 3.02 लाख करोड़ रुपये से अधिक के बराबर के 1 करोड़ से अधिक लेनदेन को सुगम बनाया है। यह देश भर में खरीदारों तथा विक्रेताओं सहित सभी हितधारकों की सहायता से संभव हो पाया है।

GeM के खरीदार आधार में केंद्र तथा राज्य सरकारों के सभी विभाग सहकारी समितियां तथा सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम शामिल हैं। GeM के विक्रेता आधार की बहुजातीय प्रकृति स्पष्ट रूप से ‘समावेशिता’ के संस्थापक स्तंभ को प्रदर्शित करती है। बड़ी कंपनियों और समूहों से आरंभ होकर विक्रेता आधार में देश भर की महिला उद्यमी स्वयं सहायता समूह तथा एमएसएमई विक्रेता शामिल हैं। इसके अतिरिक्त एमएसएमई तथा एसजीएच के लिए निर्बाधित रूप से ऑन-बोर्डिंग का अनुभव सुनिश्चित करने के लिए GeM पोर्टल पर विशेष प्रावधान भी किए गए हैं। उल्लेखनीय है कि 62 हजार पंजीकृत सरकारी खरीदार तथा 50.90 लाख विक्रेता एवं सेवा प्रदाता स्वयं ही GeM प्रचालनों के आकार तथा परिमाण के बड़े साक्ष्य हैं।

अपनी स्थापना के बाद से ही GeM निरंतर नए उत्पाद तथा सेवा श्रेणियों को जोड़ने के साथ लगातार बढ़ता रहा है। वर्तमान में GeM पर लगभग 300 सेवा श्रेणियां तथा 10000 से अधिक उत्पाद श्रेणियां उपलब्ध हैं। इन श्रेणियों में उत्पाद तथा सेवा प्रस्तुतियों के लगभग 44 लाख कैटेलॉग हैं। इसके अतिरिक्त GeM एक उभरता हुआ प्लेटफॉर्म है और पोर्टल में नए फीचरों तथा कार्यात्मकताओं को जोड़ने की दिशा में अथक रूप से कार्य करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
track image
Loading...