उत्तराखंड एक झलक में, उत्तराखंड की प्रमुख खबरें…

Share News

@ उत्तरकाशी उत्तराखंड 

उत्तराखंड एक झलक में, उत्तराखंड की प्रमुख खबरें

जिले में डिस्ट्रिक स्मार्ट कंट्रोल रूम स्थापित होने जा रहा है। इसके लिए केंद्र सरकार की ओर से 2 करोड़ की धनराशि प्राप्त हो गई है। स्मार्ट कंट्रोल रूम से जनपद के सभी सरकारी कार्यालयों के साथ पुलिस थाने, गंगोत्री व यमुनोत्री धाम आदि सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से जोड़े जाएंगे।बुुधवार को जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने कलक्ट्रेट परिसर में स्थापित होने वाले डिस्ट्रिक स्मार्ट कंट्रोल रूम के बारे में जानकारी दी।

बताया कि स्मार्ट कंट्रोल रूम से सभी सरकारी कार्यालय, गंगोत्री व यमुनोत्री धाम, चारधाम यात्रा मार्ग, खनन पट्टे क्षेत्र, शराब के गोदाम सीसीटीवी कैमरे के माध्यम से जुड़े रहेंगे। बताया कि स्मार्ट कंट्रोल रूम से तीर्थयात्रियों को भी अनाउंसमेंट के माध्यम से संबोधित किया जा सकेगा। इसके लिए कंट्रोल रूम को वी-सेट कनेक्शन से जोड़ा जाएगा, जिससे किसी भी आपदा के दौरान कनेक्टिविटी सिस्टम खराब होने पर भी वैकल्पिक तौर पर वी-सेट कनेेक्शन से केंद्र व राज्य कंट्रोल रूम से संपर्क किया जा सकेगा।

इस संबंध में आयोजित बैठक में डीएम ने संबंधित अधिकारियों को छह माह के अंदर डिस्ट्रिक स्मार्ट कंट्रोल रूम तैयार करने के निर्देेश दिए। बैठक में एडीएम तीर्थपाल सिंह, डीआई एनआईसी सर्वेशमणि मिश्रा, जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी देवेंद्र पटवाल आदि रहे।

 

********

निशुल्क खाद्यान्न योजना में सड़े-गले चावलों की सप्लाई की शिकायत पर बुधवार को देहरादून से खाद्यान्न आयुक्त गढ़वाल के नेेतृत्व में अधिकारियों की टीम बड़कोट पहुंची, जिसने चावल के बोरे लेकर पहुंचे चारों ट्रकों से नमूने लेकर टेस्टिंग के लिए भेजे हैं।खाद्यान्न आयुक्त गढ़वाल ने कहा कि खराब राशन का वितरण कतई नहीं होगा।गोदाम पहुंचे चावल के ट्रकों में खराब चावल की सूचना पर एसडीएम बड़कोट शालिनी नेगी ने नायब तहसीलदार को जांच के लिए भेजा था, जिन्होंने चावल के सैंपल लेेने के बाद खाद्य सुरक्षा अधिकारी से सैंपलिंग करवाने की बात कही थी।

इधर मामले की गंभीरता को देखते हुए बुधवार को खाद्यान्न आयुक्त गढ़वाल विपिन कुमार भी देहरादून से संबंधित अधिकारियों के साथ बड़कोट पहुंचे। आयुक्त ने चार ट्रकों में आए चावल को वापस कर किस स्तर पर गलती हुई, इसकी की जांच करवाने की बात कही। इधर, एसडीएम शालिनी नेगी ने बताया कि चावलों के सैंपल लेकर लैब भिजवाया जा रहा है।

रिपोर्ट आने पर अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।नौगांव ब्लाक प्रमुख सरोज पंवार ने कहा कि क्षेत्र में सड़ा-गला राशन वितरण कतई स्वीकार नहीं किया जाएगा। उन्होंने अधिकारियों से मामले की निष्पक्ष व उच्चस्तरीय जांच करने की मांग की है। लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ नहीं किया जाना चाहिए।

 

********

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
track image
Loading...