हरियाणा गुरुद्वारा मैनेजमेंट कमेटी ने मुख्यमंत्री का जताया आभार

Share News

@ चंडीगढ़ हरियाणा 

सुप्रीम कोर्ट द्वारा प्रदेश के लिए अलग से शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के गठन के हक में दिए गए निर्णय के बाद हरियाणा सिख गुरुद्वारा मैनेजमेंट कमेटी और प्रदेश सरकार के संयुक्त तत्वाधान में 7 अक्टूबर को गुरुद्वारा नाडा साहिब में अखंड पाठ का आयोजन करवाया जाएगा। इस अवसर पर हरियाणा सिख गुरुद्वारा मैनेजमेंट कमेटी और सिख संगत की ओर से हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल को सम्मानित भी किया जाएगा।

हरियाणा गुरुद्वारा मैनेजमेंट कमेटी ने चंडीगढ़ हरियाणा निवास में करनाल के सांसद संजय भाटिया की अध्यक्षता में आयोजित हुई बैठक के बाद कहा कि अलग कमेटी के लिए मिली जीत के लिए सबसे पहले वे गुरु ग्रंथ साहब का शुक्रिया करेंगे। कमेटी के नेताओं ने कहा कि वे मुख्यमंत्री मनोहर लाल का भी आभार जताते हैं जिन्होंने इस फैसले में जोरदार पैरवी करवाई। उन्होंने कहा कि 7 अक्टूबर को नाडा साहिब में अखंड पाठ होगा और 9 अक्टूबर को भोग लगेगा। इस दौरान प्रदेशभर की सिख संगत यहां मौजूद रहेगी। उन्होंने कहा कि इस दौरान प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल का सम्मान किया जाएगा।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश सरकार सिखों के हितों के लिए लगातार कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के बाद अब हरियाणा के सभी 52 गुरुद्वारा साहिब हरियाणा शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी की देखरेख में समाज सेवा का कार्य करेंगे। उन्होंने कहा कि उन्हें पूरी उम्मीद है पूरा सिख समाज एकता व भाईचारे की भावना से एकजुट होकर चलेगा और समाज हित में बेहतरीन कार्य करेगा। उन्होंने आश्वासन दिया कि प्रदेश सरकार की ओर से सिख समाज को उनकी उम्मीद के अनुसार पूरा सहयोग मिलेगा, सभी मिलकर समाज का भला करेंगे।

उल्लेखनीय है कि प्रदेश सरकार ने सिखों की भावनाओं की कद्र करते हुए सुप्रीम कोर्ट में हरियाणा में अलग से शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के गठन के केस की अच्छे से पैरवी की। इसी का नतीजा रहा कि फैसला हरियाणा की सिख संगत के पक्ष में आया। सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने प्रदेशभर में प्रमुख गुरुद्वारा साहिब में जाकर मत्था टेका और गुरु साहिब का आशीर्वाद लिया। मुख्यमंत्री ने गुरुद्वारा नाडा साहिब, करनाल के पुराना सर्राफा बाजार स्थित गुरुद्वारा साहिब मंजी साहिब, पानीपत में गुरुद्वारा साहिब पहली पातशाही और रोहतक के गुरुद्वारा बंगला साहिब में शीश नवाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
track image
Loading...