खेल मंत्री ने 1 से 31 अक्टूबर तक राष्ट्रव्यापी ‘स्वच्छ भारत 2.0’ अभियान की घोषणा की

Share News

@ नई दिल्ली

केंद्रीय युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने एक ट्वीट में घोषणा की कि युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय का युवा कार्यक्रम विभाग 1 अक्टूबर 2022 से एक महीने तक चलने वाले राष्ट्रव्यापी स्वच्छ भारत 2.0 अभियान का शुभारंभ करेगा।

एक वीडियो संदेश में अनुराग ठाकुर ने कहा कि अपने स्वतंत्रता दिवस के संबोधन में प्रधानमंत्री ने पांच प्रणों का जिक्र किया था। उनमें से एक था विकसित भारत का लक्ष्य जिसमें साफ-सफाई बहुत अहम भूमिका निभाती है। इसलिए स्वच्छ भारत 2.0 हमारी प्राथमिकता है।

आदरणीय प्रधानमंत्री  @narendramodi की प्रेरणा से @IndiaSports ने गत वर्ष स्वच्छता अभियान के अंतर्गत एक महीने में 75 लाख किलो का लक्ष्य रख 114 लाख किलो कूड़े का निपटान किया था।1.10.2021 को हम प्रयागराज से #SwachhBharat2022 की शुरुआत करने जा रहे हैं। pic.twitter.com/ScyNJ3kS0A— Anurag Thakur (@ianuragthakur) September 29 2022

ठाकुर ने बताया कि प्रधानमंत्री की दूरदर्शिता के अनुसार नेहरू युवा केंद्र संगठन से जुड़े युवा मंडलों और राष्ट्रीय सेवा योजना से जुड़ी संस्थाओं के नेटवर्क के जरिए देश भर के 744 जिलों के 6 लाख गांवों में स्वच्छ भारत 2.0 कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है।

ठाकुर ने बताया कि भारत को स्वच्छ बनाने को लेकर जागरूकता बढ़ाने लोगों को संगठित करने और उनकी भागीदारी सुनिश्चित करने के उद्देश्य से 1 अक्टूबर 2022 को प्रयागराज से स्वच्छ भारत 2.0 की शुरुआत की जाएगी। इस पहल में विभिन्न क्षेत्रों भाषाओं और पृष्ठभूमि के लोग एक साथ काम करेंगे और इन लोगों द्वारा पूरी तरह से स्वैच्छिक आधार पर कचरे की सफाई की जाएगी।

केंद्रीय मंत्री ने बताया कि पिछले साल 75 लाख किलो प्लास्टिक कचरे के निस्तारण का लक्ष्य न सिर्फ हासिल किया गया बल्कि उससे भी ज्यादा का निस्तारण किया गया। पिछले साल के स्वच्छ भारत अभियान की सफलता के बाद इस साल युवा कार्यक्रम विभाग ने 1 करोड़ किलो प्लास्टिक कचरे को इकट्ठा करने और निपटाने का लक्ष्य रखा है। ठाकुर ने सभी लोगों से स्वच्छ भारत 2.0 अभियान में भाग लेने और एक-दूसरे को जिम्मेदार नागरिक के तौर पर प्रेरित करने की अपील की है।

स्वच्छ भारत कार्यक्रम का उद्देश्य 01 अक्टूबर से 31 अक्टूबर 2022 तक देश के सभी जिलों में सार्वजनिक स्थानों व घरों की सफाई का आयोजन करना है और जागरूकता पैदा करने के लिए समाज के सभी वर्गों पीआरआई गैर-सरकारी संगठनों सहित सरकारी संगठनों को शामिल करना है। साथ ही इसका उद्देश्य नागरिकों में अपने आस-पास की जगहों को साफ और कचरा मुक्त रखने को लेकर गर्व की भावना भरना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
track image
Loading...