खेलों के जरिए मजबूत हुए संबंध, बन रहा है आपसी समन्वय का माहौल : मुख्यमंत्री

Share News

@ जयपुर राजस्थान

 मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने बुधवार को प्रतापगढ़ एवं उदयपुर के गोगुन्दा (सूरण गांव) में ब्लॉक स्तरीय राजीव गांधी ग्रामीण ओलंपिक खेल गतिविधियों का अवलोकन किया। उन्होंने दोनों ही जगहों पर विभिन्न विकास कार्यों का शिलान्यास और लोकार्पण किया।

इस दौरान उन्होंने मैदान में खिलाड़ियों से मुलाकात की और उन्हें प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा कि राजीव गांधी ग्रामीण ओलंपिक खेलों में उम्र का कोई बंधन नहीं रखा गया। मैदान में हर वर्ग और बुजुर्ग से लेकर युवा खिलाड़ी एक साथ बिना किसी भेदभाव के हिस्सा ले रहे हैं। इससे गांवों में आपसी मेलजोल और भाईचारे का माहौल बना है।

श्री गहलोत ने कहा कि राजीव गांधी के नाम से यह ओलंपिक खेलदेश ही नहीं दुनिया में एक नई और अनूठी पहल है। जल्द ही शहरों में भी बड़े स्तर पर खेल आयोजन होंगे।

उन्होंने कहा कि राजस्थान में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है और हम ग्रामीण ओलंपिक खेलों के माध्यम से इन प्रतिभाओं को आगे लाने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि खेल स्टेडियम के साथ-साथ खेल छात्रावास बनाने की दिशा में विचार किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस बार प्रदेश में वर्षा अच्छी हुईजिससे रबी की फसल का रकबा भी बढ़ा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में लाख किसानों के बिजली बिल शून्य हो गए हैं। इससे उन्हें आर्थिक संबल मिला है। उन्होंने कहा कि सामाजिक सुरक्षा सरकार का ध्येय है।

इसी के तहत प्रदेश में एक करोड़ बुजुर्गों को सामाजिक सुरक्षा के तहत पेंशन दी जा रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में शिक्षा के लिए साल में 211 महाविद्यालय खोले हैंजिनमें 90 कन्या महाविद्यालय है। साथ हीजिस विद्यालय में 500 बालिकाएं अध्ययनरत हैंवहां महाविद्यालय शुरू किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
track image
Loading...