रोहतक में 500 एकड़ में बनेगा ‘फुटवियर-लैदर’ कलस्टर : दुष्यंत चौटाला

Share News

@ चंडीगढ़ हरियाणा 

हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि राज्य सरकार रोहतक में करीब 500 एकड़ में ‘फुटवियर-लैदर’ कलस्टर बनाएगी ताकि राज्य के अधिक से अधिक युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध हो सकें। रोहतक शहर के आस-पास के आईटीआई संस्थानों के विद्यार्थियों को फुटवियर इंडस्ट्री से जोडक़र ट्रेनिंग भी दी जाएगी ताकि लैदर इंडस्ट्री के उद्योगपतियों को स्थानीय स्तर पर ही कुशल युवा मिल सकें और युवाओं को उनके घर के नजदीक रोजगार हासिल हो सके।

डिप्टी सीएम, जिनके पास उद्योग एवं वाणिज्य विभाग का प्रभार भी है, ने आज यहां एमएसएमई के अधिकारियों व फुटवियर इंडस्ट्री एसोसिएशन के पदाधिकारियों की संयुक्त बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।

उपमुख्यमंत्री ने बताया कि राज्य में ‘लैदर-इंडस्ट्री’ के उद्योगपतियों की मदद के लिए लैदर से संबंधित एक सैंटर-ऑफ-एक्सीलेंस भी बनाया जाएगा। एसोसिएशन के पदाधिकारियों की डिमांड पर दुष्यंत चौटाला ने ‘फुटवियर-लैदर’ कलस्टर के पास ही लेबर-हॉस्टल बनाने का आश्वासन दिया ताकि वहां काम करने वाले मजदूरों को रहने व इंडस्ट्री तक आने-जाने में परेशानी न हो।

डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में राज्य में उद्योग लगाने के लिए निवेशक आगे आ रहे हैं, क्योंकि सरकार ने औद्योगिक-माहौल में सुधार के लिए कई प्रमुख कदम उठाए हैं जिनकी बदौलत हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी हरियाणा को एमएसएमई के क्षेत्र में किए गए उल्लेखनीय कार्यों के लिए सम्मानित किया था। इस क्षेत्र में जहां प्रदेश को राष्टï्रीय स्तर पर तीसरा स्थान हासिल हुआ है, वहीं वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय द्वारा  जारी ‘स्टेट इज ऑफ डुईंग बिजनेस’ के पांचवें संस्करण में हरियाणा को टॉप अचीवर्स कैटेगरी में स्थान मिला है जो कि किसी भी राज्य के लिए गर्व की बात है।

उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार की उद्योगों को अनुकूल पारिस्थितिकी तंत्र प्रदान करने की प्रतिबद्धता के कारण ही हरियाणा की ईज ऑफ डूइंग बिजनेस, ईज ऑफ लॉजिस्टिक्स और एक्सपोर्ट रेडीनेस में उत्कृष्टï रैंकिंग आई है। इसके अतिरिक्त, निर्यात तैयारी सूचकांक (भूमि बंद श्रेणी)-2021 में राज्य को पहला तथा ‘लॉजिस्टिक्स इज एक्रोस डिफरेंट स्टेटस सर्वे’-2021 में दूसरा स्थान मिला है।

इस अवसर पर उद्योग एवं वाणिज्य विभाग के प्रधान सचिव विजयेंद्र कुमार, एमएसएमई विभाग की महानिदेशक मती पी.अमनीत कुमार, एचएसआईआईडीसी के प्रबंध निदेशक विकास गुप्ता, उपमुख्यमंत्री के ओएसडी कमलेश भादु, एचएसआईआईडीसी के चीफ कोर्डिनेटर सुनील शर्मा समेत अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
track image
Loading...