उत्तराखंड एक झलक में,उत्तराखंड की प्रमुख खबरें…

Share News

संवाददाता : देहरादून उत्तराखंड 

उत्तराखंड एक झलक में, उत्तराखंड की प्रमुख खबरें

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत रावत ने शुक्रवार सांय को चकराता रोड स्थित कालिका मंदिर मार्ग में भवन कालिका माता समिति द्वारा आयोजित 68वें ध्वाजारोहण महोत्सव में प्रतिभाग किया।

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने शुक्रवार को पंचायतीराज निदेशालय में राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान के अन्तर्गत स्मार्ट और इको फ्रेंडली ई-आफिस के रूप में नवीनीकृत निदेशालय पंचायतीराज के भवन और राज्य पंचायत संसाधन केंद्र के नवनिर्मित भवन का लोकार्पण किया।

इस अवसर पर संबंधित अधिकारियों व पंचायत प्रतिनिधियों को वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि पंचायतों को सूचना व संचार तकनीक से जोड़ा जाना आज के समय में अत्यन्त आवश्यक है। पंचायत के दायित्वों एवं कर्तव्यों के क्रियान्वयन में आने वाली समस्याओं के निदान हेतु डेस्क प्रणाली तैयार की गई है। इसके लिए टोल फ्री न0 18004190444 जारी किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भारत गांवों में बसता है। देश तभी समृद्ध होगा जब हमारे गांव समृद्ध होंगे।

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने शुक्रवार प्रदेश में कोविड संक्रमण की स्थितियों की समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए हैं कि जो लोग मास्क सही तरीके से नहीं पहन रहे हैं या सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन कर रहे हैं, उन पर सख्त कार्रवाई की जाए। उन्होंने परीक्षाओं को स्थगित करने तथा कॉलेजों में केवल ऑनलाइन क्लासेज की अनुमति देने के निर्देश भी दिए।

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से कहा कि जागरूकता पर फोकस करें, टेस्टिंग की संख्या बढ़ाएं और वैक्सीनेशन अभियान में भी तेजी लाएं। उन्होंने होम आइसोलेशन की प्रभावी रणनीति बनाने, होम आइसोलेट हुए लोगों को समुचित व्यवस्थाएं देने और उन पर नजर रखने के साथ साथ कोविड केयर सेंटरों को मजबूत करने के भी निर्देश दिए हैं।

हरिद्वार कुंभ में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए मेला प्रशासन बेहद सतर्क हो गया है। इसी क्रम में प्रशासन की ओर से अखाड़ों में कोविड सैंपलिंग में तेजी लाई गई है। मेलाधिकारी दीपक रावत ने निर्देश दिए हैं कि सभी अखाड़ों में कोविड टेस्टिंग बढ़ाने के साथ ही नियमित रूप से सेनिटाइजेशन किया जाए।

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने शुक्रवार टिहरी में केंद्रीय खेल एवं युवा मामलों के राज्यमंत्री किरेन रिजिजू  की गरिमामय उपस्थिति में वाॅटर स्पोर्ट्स एंड एडवेंचर इंस्टीट्यूट का उद्घाटन किया। इस संस्थान के संचालन व प्रबंधन का जिम्मा आईटीबीपी को दिया गया है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले छह दशकों से आईटीबीपी के जवान देश की सीमाओं की सुरक्षा में जुटे हैं।

विपरीत परिस्थितियों में भी आईटीबीपी के जवानों ने अपनी जान पर खेलते हुए स्थितियों को बखूबी संभाला है। 2013 में केदारनाथ आपदा हो चाहे हाल ही में जोशीमठ क्षेत्र में आई आपदा, हर बार लोगों की जान बचाने में आईटीबीपी की भूमिका अहम रही। उन्होंने कहा कि सरकार प्रदेश में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए निरंतर कार्य कर रही है। इसी क्रम में टिहरी झील क्षेत्र में वाॅटर स्पोर्ट्स एंड एडवेंचर इंस्टीट्यूट बनाने का फैसला किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

LIVE OFFLINE
track image
Loading...